दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में आज भी हो सकती है बारिश, जानिए क्यों लगातार नहीं बरस रहे मेघ

June 18th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। दिन भर उमस से परेशान शहरवासियों को शाम को हुई बारिश से राहत मिली। रात में ठंडी हवा चली। शहर के अधिकांश हिस्सों में बारिश हुई और रात के तापमान में कमी महसूस की गई। गुरुवार को अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के अनुसार, हवा में नमी होने के कारण दिन में उमस महसूस हो रही है। उमस से एकदम से छुटकारा मिलने की उम्मीद कम है। शाम को शहर के कई हिस्सों में करीब दो घंटे तक बारिश हुई। सड़कों पर वाहनों की रफ्तार कुछ समय के लिए सुस्त पड़ गई। शुक्रवार को भी बादल छाए रहेंगे। जिले में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। गुरुवार देर रात फिर तेज बारिश शुरू हुई।  

कम दबाव का क्षेत्र मजबूत होने के बाद नागपुर समेत विदर्भ में समय के पहले यानी 10 जून को ही मानसून का आगमन हुआ आैर अगले कुछ दिनों तक धुआंधार बारिश होने का अनुमान मौसम विशेषज्ञों ने लगाया था। 12 जून के बाद कम दबाव का क्षेत्र (सिस्टम) कमजोर पड़ने से अनुमान सही साबित नहीं हुए आैर नागपुर समेत विदर्भ में रुक-रुककर बारिश हो रही है। यही वजह है कि दिन में उमस व रात में ठंडी हवा का सिलसिला चल रहा है। 

मौसम विभाग के जानकारों के अनुसार, नागपुर में अमूमन 16 जून के बाद मानसून का आगमन होता है, लेकिन इस बार केरल में मानसून दो दिन की देरी से आने के बावजूद जिस तेजी से सिस्टम मजबूत हुआ, उससे नागपुर में 10 जून को ही मानसून पहुंच गया। सिस्टम मजबूत रहने की संभावना के कारण मौसम विशेषज्ञों ने अगले कुछ दिनों तक धुआंधार बारिश, नदी-नालों के समीप बाढ़ जैसी स्थिति, गरज-चमक व बिजली गिरने तक की चेतावनी दी थी। नागपुर समेत विदर्भ में बारिश तो हो रही है, लेकिन अनुमान के अनुसार धुआंधार नहीं। इसका मुख्य कारण सिस्टम का कमजोर पड़ना बताया गया। नागपुर जिले में आैर तीन-चार दिन कुछ स्थानों पर बारिश होती रहेगी, लेकिन धुआंधार बारिश की संभावना कम है। मौसम का यही मिजाज विदर्भ में बना रहेगा। 

बन रहा एक आैर सिस्टम 
बंगाल की खाड़ी में एक आैर सिस्टम बन रहा है। अगर सिस्टम इसी तरह मजबूत होता रहा, तो 3-4 दिन बाद गरज-चमक व तेज हवा के साथ मूसलाधार बारिश हो सकती है। इस सीजन की यह पहली जबर्दस्त बारिश हो सकती है, ऐसी संभावना है।