डिजिटल क्रांति के दौर मे: जयपुर से नागपुर पत्र पहुंचने में लगे 7 माह

July 16th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  सरकारी काम की गति कितनी धीमी हो सकती है, इसका एक जीवंत उदाहरण देखने को मिला है। जयपुर से भेजा गया पत्र करीब सात महीने बाद नागपुर पहुंच सका है। 

दिसंबर 2021 को भेजा था पत्र
जयपुर के संतोष कुमार अग्रवाल ने अग्रचिंतन विशेषांक मिलने के संबंध में अग्रचिंतन प्रकाशन, जय कल्पना बिल्डिंग के सामने, सेंट्रल बाजार रोड, रामदास पेठ, नागपुर के पते पर 17 दिसंबर 2021 को पत्र भेजा था। यह पत्र गंतव्य स्थान पर 15 जुलाई 2022 को पहुंचा। साधारण पत्र पहुंचने में भले ही असाधारण देरी हुई, लेकिन 50 पैसे का यह पत्र सुरक्षित व अच्छी स्थिति में नागपुर पहुंचा। इस पत्र पर शंकर नगर पोस्ट ऑफिस की मुहर लगी हुई है। मोबाइल क्रांति के बाद भी पत्र का महत्व कायम है। अग्रचिंतन प्रकाशन नागपुर के संचालक दुर्गाप्रसाद अग्रवाल हैै।