दैनिक भास्कर हिंदी: लम्बित पेंशन मामलों को लेकर कलेक्टर ने लगाई क्लास, कहा- 10 दिन में निराकरण करो

October 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। पेंशन के लंबित प्रकरणों के निराकरण में अधिकारियों द्वारा बरती जा रही लापरवाही को कलेक्टर छवि भारद्वाज ने गंभीरता से लिया है। लगातार निर्देश देने के बाद भी अधिकारियों द्वारा प्रकरणों का निराकरण समय पर नहीं किए जाने से उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी। उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि 10 दिनों में प्रकरणों का निराकरण करें, नहीं तो अंजाम भुगतने तैयार रहें।

उल्लेखनीय है कि  कलेक्टर छवि भारद्वाज ने सोमवार को आयोजित समय सीमा प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा में अधिकारियों को लम्बित पेंशन प्रकरणों के निराकरण को प्राथमिकता देने के निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर ने विभिन्न विभागों में लंबित पेंशन प्रकरणों ब्यौरा तलब किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने कार्यालय में लम्बित प्रत्येक  पेंशन प्रकरण का रिव्यू करें और अगले दस दिन में उनका निराकरण सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के तहत जबलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटिड के सहयोग से  28 अक्टूबर को आयोजित मार्बल रॉक हॉफ मैराथन के लिए प्रतिभागियों के अधिकाधिक पंजीयन के निर्देश दिए। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे अपने अधीनस्थ सभी अधिकारियों - कर्मचारियों को हॉफ मैराथन में शामिल होने प्रेरित करें तथा उनका पंजीयन सुनिश्चित कराएं। भारद्वाज ने स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को सभी शासकीय एवं निजी स्कूल - कॉलेज के विद्यार्थियों की अधिकाधिक भागीदारी सुनिश्चित करने की हिदायत दी और इसके लिए  उनका ऑनलाइन और ऑफलाइन पंजीयन कराने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने बैठक में विधानसभा निर्वाचन की चल रही तैयारियों पर भी चर्चा की। उन्होंने निर्वाचन कार्य मे लगे अधिकारियों - कर्मचारियों को पोस्टल बेलट से मतदान की सुविधा प्रदान करने के लिए जिला निर्वाचन कार्यालय से प्रारूप 12 प्राप्त करने के निर्देश सभी विभागों के जिला प्रमुखों को दिए। भारद्वाज ने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि मतदान और निर्वाचन कार्य मे लगे लगभग शत प्रतिशत अधिकारी- कर्मचारी पोस्टल बेलट से अपने मताधिकार का उपयोग करें। उन्होंने बताया कि निर्वाचन कार्य मे लगे अधिकारियों - कर्मचारियों को अपने पोस्टल  बेलट पेपर मतदान कर्मियों को दिए जाने वालेअंतिम प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षण स्थल पर विधानसभावार बनाये जाने वाले सुविधा केंद्र में जमा करने होंगें।
 
कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि  समय सीमा प्रकरणों की अगली बैठक में उच्च न्यायालय में लम्बित प्रकरणों और अवमानना प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की जाएगी। उन्होंने सभी विभागों के जिला अधिकारियों को अगली बैठक में न्यायालयीन प्रकरणों के बारे में सभी आवश्यक जानकारियों सहित  मौजूद रहने की हिदायत दी। बैठक में जिला पंचायत की सी ई ओ हर्षिका सिंह, अपर कलेक्टर रोहित सिंह, नगर निगम आयुक्त चन्द्रमौलि शुक्ला, अपर कलेक्टर व्ही पी द्विवेदी भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...