दैनिक भास्कर हिंदी: जय श्रीराम अर्बन क्रेडिट को-आपरेटिव सोसाइटी की धोखाधड़ी 9 करोड़ तक पहुंची

February 9th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जय श्रीराम अर्बन क्रेडिट को-आपरेटिव सोसाइटी मर्यादित, गणेशनगर, नागपुर की और एक करोड़ की  धोखाधड़ी आर्थिक अपराध शाखा पुलिस ने  उजागर की। 8.76 करोड़ की धोखाधड़ी पहले ही सामने आ चुकी है। अब आंकड़ा 9 करोड़ पार हो गया है। 

लालच देकर ‘लूट’ की 
पुष्टि करते हुए आर्थिक अपराध शाखा की पुलिस निरीक्षक मीना जगताप ने कहा कि अभी तक 213 निवेशकों की शिकायतें पहुंच चुकी हैं। कम समय में अधिक ब्याज और अन्य लाभ के लालच में लोगों ने जमा पूंजी तक निवेश कर रखा है। सोसाइटी 11-12 प्रतिशत ब्याज देने का लालच देती थी। कुछ लोग तो मालामाल हो गए, लेकिन अनेक कंगाल हो गए। 

आरोपियों की संख्या बढ़ने की संभावना  
आर्थिक अपराध शाखा पुलिस इस मामले में योगेश चरडे, अभिषेक मेहरकुरे, अंकुश कावरे, अशोक दुरबुडे, सुनील पोल, अंकुश कावरे, अर्चना टेके और मुख्य आरोपी खेमचंद मेहरकुरे को गिरफ्तार कर चुकी है। सभी न्यायिक हिरासत के तहत सेंट्रल जेल में बंद हैं। आरोपी  विजय चिकटे, राजेश पोल, संदीप पेंदाम और पुष्पा गोटमारे की तलाश जारी है। पुष्पा गोटमारे की तबीयत खराब चल रही है, बाकी तीन आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस ने आरोपियों की संख्या और बढ़ने की संभावना जताई है।    

शिकायत करने निवेशक आएं आगे 
आर्थिक अपराध शाखा पुलिस विभाग की निरीक्षक मीना जगताप ने निवेशकों से मोबाइल नंबर 9923482644 पर संपर्क करने की अपील निवेशकों से की है। 

7 से 8 और अब 9 करोड़ पार 
दिनेश पडेगांवकर (तुलसीबाग रोड, नागपुर) निवासी की शिकायत पर सोसाइटी की पोल खुली। पूजापाठ का काम करनेवाले दिनेश ने जीवन भर की पूंजी इस सोसाइटी के पास निवेश किया, लेकिन वादे के अनुसार कोई लाभ नहीं मिला, तो दिनेश ने  कोतवाली थाने में शिकायत की। उसके बाद इस सोसाइटी की धोखाधड़ी उजागर होने लगी। मामला करोड़ों से जुड़ा होने के कारण आर्थिक अपराध शाखा पुलिस को जांच की जिम्मेदारी दी गई। सोसाइटी का जब विशेष लेखा परीक्षण किया गया, तब पहली बार  7, 54,26,963 रुपए की धोखाधड़ी सामने आई। उसके बाद आंकड़ा 8 करोड़ 76 लाख 24 हजार 214 रुपए पहुंचा और अब 9 करोड़ पार हो गया है।