comScore

जेईई एडवांस...और कम हो सकते हैं परीक्षार्थी

जेईई एडवांस...और कम हो सकते हैं परीक्षार्थी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जेईई मेन्स के नतीजे जारी हो चुके हैं। अब विद्यार्थियों की 27 सितंबर को होने वाली जेईई एडवांस पर नजर है। पिछले कुछ वर्षों का ट्रेंड देखें तो विद्यार्थी लगातार जेईई एडवांस से किनारा करते नजर आ रहे हैं। वर्ष 2019 में जेईई मेन्स पास करके जेईई एडवांस के लिए पात्र 72 हजार विद्यार्थियों ने एडवांस परीक्षा के लिए पंजीयन नहीं कराया था। इस वर्ष यह आंकड़ा और बढ़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि 1 से 6 सितंबर के बीच हुई जेईई मेन्स परीक्षा में 2 लाख 23 हजार विद्यार्थियों ने उपस्थिति ही नहीं दर्शाई। हालांकि, इसका फायदा अन्य विद्यार्थियों को हुआ। प्रतिस्पर्धा कम होने से उनकी रैंकिंग जरूर सुधरी है। वहीं इस वर्ष कट ऑफ भी पिछले वर्ष की तुलना में काफी कम रहा। इस वर्ष देश के 23 आईआईटी संस्थानों में कुल 11 हजार 289 सीटें हैं। जेईई एडवांस परीक्षा 27 सितंबर को सुबह 9 से 12 (पेपर-1) और दोपहर 2.30 से शाम 5.30 बजे तक (पेपर 1) होगी। 

ये है मुख्य कारण 
एडवांस में विद्यार्थियों के कम पंजीयन के पीछे एक मुख्य कारण यह भी होता है कि, विद्यार्थियों को जेईई मेन्स के लिए 3 और एडवांस के लिए 2 मौके मिलते हैं। अन्य कारण यह भी कि, अधिकांश विद्यार्थी नॉन-मेट्रो सिटी में स्थित आईआईटी की जगह मेट्रो सिटी में स्थित एनआईटी या अन्य इंजीनियरिंग संस्थान को प्राथमिकता देते हैं। 

ऐसा रहा कट ऑफ 
कॉमन रैंक लिस्ट    90.3765335
ईडब्लूएस    70.2435518
ओबीसी    72.8887969
अनुसूचित जाति    50.1760245
अनुसूचित जनजाति    39.0696101
दिव्यांग    0.0618524

जेईई एडवांस में रुचि नहीं 
पिछले कुछ वर्षों के आंकड़ें देखे तो जितने विद्यार्थी जेईई एडवांस के लिए पात्र होते हैं, इनमें से बहुत से विद्यार्थी जेईई एडवांस के लिए पंजीयन ही नहीं कराते। 
वर्ष    पात्र विद्यार्थी    पंजीयन (लाख में)
2019    2.45              1.73
2018    2.31              1.65
2017    2.21              1.72
2016    1.98              1.56

कमेंट करें
tR7Vj