दैनिक भास्कर हिंदी: अपहरण मारपीट के आरोपी को बचा रही पुलिस

February 7th, 2019

डिजिटल डेस्क,कटनी । जिले की वैध/ अवैध खदानों में रेत कारोबारी तांडव मचा रहे हैं । यदि किसी ने विरोध किया तो उसे अपनी जान बचाने के लाले पड़ जाते हैं। रेत के अवैध कारोबार में पुलिस की मिलीभगत की चर्चाएं तो अर्से से हैं। ताजा मामला बड़वारा थाना क्षेत्र के सांघी में रेत के अवैध उत्खनन का सामने आया है, जिसमें पुलिस ने पहले तो एफआईआर दर्ज करने से ही मना कर दिया। वरिष्ठ अधिकारियों के दबाव में एफआईआर तो दर्ज की, लेकिन मुख्य आरोपी को नाम ही शामिल नहीं किया। पीडित ने पुलिस अधीक्षक से लिखित शिकायत कर एफआईआर में मुख्य आरोपी का नाम शामिल करने की मांग की है। थाना प्रभारी पर आरोप लगने पर एएसपी ने इस शिकायत की जांच डीएसपी हेडक्वार्टर को सौंपी है।
 जंगल में बंधक बनाकर पीटा
सांघी निवासी लाखन सिंह ने पुलिस अधीक्षक से की गई शिकायत में आरोप लगाया कि चार फरवरी की रात नौ बजे बद्री दीन दाहिया एवं बबलू चौधरी गांव के भीतर से रेत का परिवहन कर रहे थे। मना करने पर आरोपियों ने उस पर लाठियों से हमला कर दिया। शोरगुल सुनकर विजय सिंह, अच्छे लाल, अवसर लाल पटेल ने पहुंचकर बीच बचाव यिका। रात में 100 डॉयल को बुलाया तो पुलिस वालों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने कहा। शिकायत में आरोप लगाया है कि रात 11 बजे जब रिपोर्ट दर्ज कराने मोटरसाइकिल से थाने जा रहा था तभी रास्ते में गोलू सिंह ने मोटरसाइकिल की चाबी निकाल ली और जबरन अपने चार पहिया वाहन में बैठा लिया। चार पहिया में बैठाकर पठरा के जंगल में ले गया जहां फरियादी के साथ मारपीट कर लहुलुहान कर दिया। फरियादी किसी तरह जान बचाकर भागा और 5 फरवरी को रिपोर्ट लिखाने बड़वारा थाने गया तो वहां से भगा दिया गया।
मुख्य आरोपी को बचा रही पुलिस
शिकायत में आरोप लगाया कि वरिष्ठ अधिकारियों के दबाव में बड़वारा थाने में एफआईआर तो दर्ज कर ली गई लेकिन मुख्य आरोपी गोलू सिंह का एफआईआर में नाम नहीं लिखा गया। शिकायत में यह भी आरोप लगाया है कि बड़वारा पुलिस ने एमएलसी के लिए बुलाया था, बुधवार को चार घंटे थाने में बैठाए रखने के बाद एमएलसी नहीं कराई गई और भगा दिया गया। शिकायत में आरोप लगाया कि सिर में चोट लगन से खून निकल आया था। हाथ में भी सूजन है पर डॉक्टर ने एक्स-रे की सलाह दी है पर पुलिस ने एक्स-रे नहीं कराया।
इनका कहना है
फरियादी की शिकायत पर बड़वारा थाने में एफआईआर दर्ज हो चुकी है, एफआईआर में मुख्य आरोपी का नाम शामिल नहीं करने की शिकायत मिली है, इसकी जांच डीएसपी हेडक्वार्टर को सौंपी है।
- विवेक कुमार लाल, एएसपी कटनी

 

खबरें और भी हैं...