दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर के मेडिकल हास्पिटल में शीघ्र बनेगा सिकलसेल जांच के लिए लैब

January 27th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  सार्वजनिक स्वास्थ्य राज्य मंत्री राजेंद्र पाटील यड्रावकर ने  नागपुर के मेडिकल अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग के विविध मुद्दों पर बैठक कर समीक्षा की। साथ ही अस्पताल में सिकलसेल मरीजों के नमूनों की जांच प्रयोगशाला जल्द ही शुरू करने की भी बात करते हुए कहा कि इससे विदर्भ के मरीजों को राहत मिलेगी। अब तक यह सुविधा मुंबई व हैदराबाद में ही उपलब्ध है। इस अवसर पर स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ. संजय जायस्वाल, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल के प्रभारी डीन डॉ. आर. पी. सिंह, अधीक्षक डॉ. अविनाश गावंडे, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. देवेंद्र पातूरकर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी  डॉ. दीपक सेलोकर सहित अन्य विभाग प्रमुख उपस्थित थे। इसके साथ ही मंत्री यड्रावकर ने मेडिकल में फायर ऑडिट और संबंधित अस्पतालों में सुरक्षात्मक उपाययोजना, ऑक्सीजन आपूर्ति के बारे में जानकारी ली।

कोविड मरीज और वैक्सीनेशन की भी जानकारी ली 
सिकलसेल की जांच के लिए नमूने मुंबई और हैदराबाद की प्रयोगशाला में भेजे जाते हैं। इस वजह से रिपोर्ट आने में भी देरी होती है। लेकिन अब जांच की सुविधा नागपुर में ही मिल सकेगी। जल्द ही प्रयोगशाला शुरू की जाएगी। उन्होंने विभाग में रोजाना कोरोना मरीजों की संख्या, उनका उपचार, उपचार के बाद डिस्चार्ज और कोविड वैक्सीनेशन मुहिम के बारे में भी अधिकारियों से जानकारी ली। डा.जायस्वाल ने सालभर के कोविड मरीज, भर्ती मरीज, उनकी रिपोर्ट, आइसोलेशन की स्थिति और वर्तमान में व्यवस्था के बारे में जानकारी दी।

डीन ने रिक्त पद भरने की मांग की
समीक्षा बैठक के दौरान मेडिकल के प्रभारी डीन डाॅ.आर.पी.सिंह ने मेडिकल की स्थिति के बारे में बताया। उन्होंने मेडिकल में अलग-अलग वर्गों के खाली पद भरने की मांग की। साथ ही मेडिकल में सेवा दे रहे अनेक अस्थायी डाक्टर, कर्मचारी को स्थायी करने की भी मांग की। राज्यमंत्री ने मेडिकल की हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।