दैनिक भास्कर हिंदी: आठवले ने कहा- भाषणों पर रोक लगाकर संभाजी भिड़े को करें गिरफ्तार 

July 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्र और राज्य में सत्ताधारी भाजपा की सहयोगी आरपीआई के अध्यक्ष तथा केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने शिव प्रतिष्ठान के अध्यक्ष संभाजी भिड़े के भाषणों पर रोक लगाने की मांग राज्य सरकार से की है। उन्होंने सरकार से भिड़े की गिरफ्तार के संबंध में कार्रवाई करने को कहा है। मंगलवार को आठवले ने कहा कि भिड़े विपरीत बयानबाजी कर समाज में दरार पैदा कर रहे हैं। वे डॉ. बाबासाहब आंबेडकर के बारे में झूठा इतिहास बताकर दलित समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं।

आठवले ने कहा कि आंबेडकर ने मनुस्मृति का दहन किया था, लेकिन भिड़े ने एक न्यूज चैनल पर कहा है कि मनुस्मृति पढ़कर संविधान लिखा गया है। ऐसे झूठे बयानों से समाज में काफी नाराजगी है। इसलिए सरकार को भिड़े के साक्षात्कार और सभाओं पर रोक लगानी चाहिए। उनके भाषण पर पाबंदी लगाकर उन्हें गिरफ्तार करने की कार्रवाई की जानी चाहिए।

आठवले ने कहा कि आंबडेकर के बारे में भिड़े बेबिनुयाद दावा कर रहे हैं। आठवले ने कहा कि आंबेडकर ने मनुस्मृति ग्रंथ को 25 दिसंबर 1927 को महाड में जलवा दिया था। उन्होंने मनुस्मृति का विरोध किया था। इसके बावजूद भिड़े झूठे बयान देकर दलित समाज की भावनाओं को दुखा रहे हैं। आठवले ने कहा कि भिड़े इससे पहले भी कह चुके हैं कि संतों की अपेक्षा मनु श्रेष्ठ है। उन्होंने आम खाने से पुत्र रत्न की प्राप्त होने का विवादित बयान दिया है। वह लगातार इस तरह के बयान देकर अंधश्रद्धा फैलाने का काम कर रहे हैं।