दैनिक भास्कर हिंदी: Lockdown in MP: भोपाल, इंदौर और जबलपुर में 21 मार्च से हर वीकेंड पर टोटल लॉकडाउन, 31 मार्च तक तीनों शहरों के स्कूल-कॉलेज भी बंद

March 19th, 2021

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने भोपाल, इंदौर व जबलपुर में 21 मार्च रविवार से हर वीकेंड पर टोटल लॉकडाउन का निर्णय लिया है। तीनों शहरों में अगले आदेश तक हर वीकैंड पर शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक टोटल लॉकडाउन कुल 32 घंटे का रहेगा। इसके अलावा, 31 मार्च तक इन तीनों शहरों में स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे। यह निर्णय शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बुलाई गई बैठक में लिया गया। वहीं लाॅकडाउन को लेकर गृह विभाग निर्देश जारी कर दिए हैं।

बता दें कि पिछले 24 घंटे में रिकाॅर्ड 1140 नए संक्रमित मिलने से सरकार अब नियमों का पालन कराने के लिए सख्ती से निपटने की तैयारी कर रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शाम 7 बजे बंगाल से भोपाल लौटे और एयरपोर्ट से सीधे मंत्रालय पहुंचे। यहां सीएम ने कोरोना वायरस को लेकर हालातों की समीक्षा के लिए वरिष्ठ अफसरों के साथ आपात बैठक में शामिल हुए। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा और प्रमुख सचिव जनसम्पर्क शिव शेखर शुक्ला उपस्थित थे।

खबर में खास

  • इंदौर, भोपाल और जबलपुर में शनिवार रात्रि 10 बजे से सोमवार को प्रातः 6 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान घर से निकलने पर रोक रहेगी।
  • लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं तथा उद्योग चालू रहेंगे।
  • इंडस्ट्रीज और फैक्टरियों में कर्मचारी और मजदूर आ जा सकेंगे।
  • बीमार लोगों को लाने-ले जाने की छूट रहेगी।
  • एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर यात्री जा सकेंगे।
  • परीक्षा और प्रतियागी परीक्षा में शामिल होने की छूट रहेगी।
  • लॉकडाउन के दौरान सामाजिक समारोह की अनुमति लेना होगी।
  • अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि गत दिवस प्रदेश में 21 हजार कोरोना टेस्ट किए गए। प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 5.5 प्रतिशत आई है, जो अधिक है।

तीनों शहरों में तेजी से फैल रहा संक्रमण
दरअसल, इंदौर और भोपाल में जिस तरह से संक्रमण तेजी से फैल रहा है, वह चिंताजनक है। इंदौर में आंकड़ा एक बार फिर 300 के पार पहुंच गया है। यहां 2 महीने 26 दिन बाद 302 केस मिले हैं। इसी तरह भोपाल में 3 महीने 7 दिन बाद एक दिन में 203 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़ने का एक आधार टेस्टिंग बढ़ना भी है। दो दिन पहले तक 18 हजार तक टेस्ट हो रहे थे, लेकिन 18 मार्च को संख्या बढ़ा कर 20,770 की गई। ऐसे में संक्रमितों की संख्या भी बढ़ गई।

मध्यप्रदेश में आ चुकी कोरोना की दूसरी लहर
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक मार्च माह में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है, जो ज्यादा खतरनाक है। संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा, लेकिन अभी भी बाजारों में लोग कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे। इससे कोरोना के ज्यादा फैलने का खतरा है।

जो लोग मास्क नहीं लगा रहे, वे सभी की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं
बैठक के दौरान सीएम ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे हैं। फिर से गंभीर स्थिति न हो, इससे बचने के लिए मेरा प्रदेश की जनता से अनुरोध है कि सभी अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग रखें, कहीं भीड़ न करें तथा कोरोना संक्रमण को रोकने में अपना योगदान दें। सीएम ने कहा कि जो लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं, वे न केवल अपनी, अपनों की बल्कि समाज में सभी की जिंदगी खतरे में डाल रहे हैं। सरकार सभी आवश्यक इंतजाम कर रही है, लेकिन संक्रमण रोकने के लिए आप सभी का पूरा सहयोग बहुत जरूरी है।

किसान चिंता न करें, किसानों को मिलेगा मुआवजा
सीएम चौहान ने कहा कि प्रदेश के जिन हिस्सों में ओला वृष्टि एवं बारिश से फसलों को नुकसान हुआ है, वहां के किसान चिंता न करें। सर्वे के निर्देश दे दिए गए हैं। शीघ्र ही सर्वे प्रारंभ हो जाएगा तथा किसानों को फसलों के नुकसान का समुचित मुआवजा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...