दैनिक भास्कर हिंदी: Lockdown in MP: इन 48 जिलों में कल से शुरू होगी गेहूं की खरीदी, केंद्रों पर होगी सेनेटाइजर और साबुन की व्यवस्था

April 14th, 2020

​डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते चार जिलों को छोड़कर 48 जिलों में बुधवार से गेहूं (रबी फसलों) की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू हो जाएगी। गेहूं खरीदी की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सभी खरीदी केंद्रों पर मॉस्क, सेनेटाइजर व हाथ धोने के लिए साबुन उपलब्ध रहेगा। 

सीएम शिवराज बोले- किसानों से अन्न का हर दाना खरीदा जाएगा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश के अन्नदाता किसानों से अन्न का हर एक दाना खरीदा जाएगा। प्रदेश में बुधवार 15 अप्रैल से किसानों से रबी फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू की जा रही है। मुख्यमंत्री चौहान ने किसानों से अपील की है कि एसएमएस द्वारा खरीदी केन्द्रों पर पहुंचने का दिनांक और समय प्राप्त होने पर ही अपनी उपज लेकर वहां पहुंचें। खरीदी केन्द्रों पर पूरी कार्यवाही में सोशल डिस्टेसिंग के नियम का पालन जरूर करें, जिससे कोरोना संक्रमण की स्थिति उत्पन्न न हों।

48 जिलों में 4305 खरीदी केंद्र बनाए गए
खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य शासन रबी विपणन वर्ष 2020-21 में गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी लिए 48 जिलों में 4305 खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं। इसके अलावा, 1500 गोदामों और साइलो केन्द्रो पर भी खरीदी होगीं। भोपाल, इंदौर और उज्जैन में कोरोना का संक्रमण ज्यादा है इसलिए यहां अभी खरीदी नहीं होगी। इन चार स्थानों पर गेहूं की खरीदी के लिए तारीखें अलग से घोषित की जाएगी।

प्रदेश के 21 लाख किसानों को एसएमएस भेजे
मिले ब्योरे के अनुसार प्रदेश के 21 लाख किसानों को एसएमएस भेजकर उनकी उपज की खरीदी का समय और तारीख की जानकारी प्रदान की जा रही है। खरीदी केन्द्र पर एक दिन में केवल छह किसानों को उनकी उपज बेचने के लिये मैसेज दिए जाएंगे। खरीदी केन्द्र में गेहू की तुलाई दो पाली में की जाएगी। एक पाली में केवल तीन किसानों की उपज की तोल की जाएगी। यदि कोई किसान किसी कारणवश निर्धारित तिथि के मैसेज पर खरीदी केन्द्र नहीं पहुंच पाते हैं, तो उन्हें दोबारा अवसर प्रदान किया जाएगा।

खरीदी केंद्रों पर मास्क, सेनेटाइजर और हाथ धोने के लिए साबुन की व्यवस्था रहेगी 
विभाग ने खरीदी केन्द्रों पर किसानों के साथ-साथ कार्यरत कर्मचारियों से भी कोरोना गाइड लाइन के अनुसार आपस में तीन-तीन मीटर की दूरी पर रहकर कार्य करने के निर्देश दिए। खरीदी केन्द्रों पर मास्क, सेनेटाइजर और हाथ धोने के लिये साबुन की व्यवस्था रहेगी। किसानों को अपने साथ वृद्घजनों, बच्चों और अस्वस्थ लोगों को लाने की अनुमति नहीं होगी। खरीदी केन्द्रों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात रहेगा। जिन किसानों को खरीदी केन्द्र पर उपज लाने के लिये एसएमएस जाएंगे, केवल उन्ही किसानों को लाकडाउन की अवधि में खरीदी केन्द्र तक आने और जाने की अनुमति रहेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि इस बार लगभग 100 लाख एमटी गेहूं तथा 10 लाख एमटी चना, मसूर, सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जानी है। खरीदी केंद्रों पर बारदाना, हम्माल, मजदूर, परिवहन भंडारण आदि सभी व्यवस्थाएं अच्छी से अच्छी की जाएं।