comScore

दोस्तों का मजाक मोइन और नफीस की मौत का कारण बना, नदी में धकेलते दिखे साथी

August 30th, 2018 07:36 IST

डिजिटल डेस्क, सतना। ईद-उल-अजहा के दूसरे दिन सतना नदी में डूबने से दो युवकों की मौत के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे एक वीडियो से यह पता चल रहा है कि जिगनहट में रपटा के ऊपर पहुंचकर 7-8 युवक आपस में हंसी-ठिठोली करते हुए एक साथी को खींचकर नदी में गिरा रहे हैं। जिसकी पहचान मोईन खान पुत्र यासीन खान 18 वर्ष निवासी खूंथी गली नम्बर-2 के रूप में की गई है। उक्त युवक साथियों से कह रहा था कि मैं डूबों तो बचा लेना। तब एक साथी यह कहता है कि अगर वह डूबेगा तो पनडुब्बी बुला लेगा, पर जब मोइन डूबने लगता है तो साथी भाग खड़े होते हैं।

अलबत्ता उसको बचाने के लिए नफीस कुरैशी पुत्र शफीक कुरैशी 25 वर्ष कूदा पर तेज बहाव में फंसकर वह भी डूब गया। हल्ला-गोहार मचने पर ग्रामीणों ने मोइन को बाहर निकालकर अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टर ने देखते ही मृत घोषित कर दिया था। जबकि नफीस को एक घंटे की मशक्कत के बाद मृत हालत में नदी से निकाला गया था, तब इस घटना को हादसा माना गया था। गौरतलब है कि 23 अगस्त को खूंथी से 7-8 युवक इनोवा कार में सवार होकर जिगनहट गए थे, जहां 18 वर्षीय मोइन व 25 वर्षीय नफीस की पानी में डूबने से मौत हो गई थी। सभी दोस्तों ने जमकर शराब पी रखी थी।

नहीं आता था तैरना
मृतक मोइन के पिता यासीन खान ने बताया कि उनका बेटा तैरना नहीं जानता था, वह पहली बार ही नदी में नहाने गया था। उसके साथी नशाखोरी करते थे। फोन पर बेटे के डूबने की खबर मिली तो परिवार के साथ अस्पताल गए, जहां उसका शव मिला।

जांच के बाद करेंगे कार्यवाही
इस संबंध में सीएसपी वीडी पांडेय ने कहा कि वीडियो की जांच कराई जाएगी। जिसमें तथ्य मिले तो दोषियों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार भी किया जाएगा। इस घटना में जितने भी लोग मौजूद थे सब आपस में दोस्त हैं। उधर टीआई विद्याधर पांडेय ने कहा कि वीडियो की तस्दीक करने के साथ ही मृतकों के परिजन और साथियों के बयान लिए जा रहे हैं।

कमेंट करें
cLKtX