comScore

मध्यप्रदेश: उज्जैन के तीन थाना क्षेत्रों में 7 मजदूरों की मौत, जहरीली शराब पीने की आशंका

मध्यप्रदेश: उज्जैन के तीन थाना क्षेत्रों में 7 मजदूरों की मौत, जहरीली शराब पीने की आशंका

डिजिटल डेस्क, उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन के तीन थाना क्षेत्रों में बुधवार सुबह से शाम तक 7 मजदूरों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि इन मजदूरों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। हालांकि, इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगी। जानकारी के अनुसार ये मजदूर कहारवाड़ी इलाके से सस्ती झिंझर शराब खरीदकर पिया करते थे। 

छत्री चौक सराय के फुटपाथ पर बुधवार सुबह 7 बजे दो मजदूरों के शव मिले थे। पहले इन मजदूरों के साथियों को लगा कि वो सो रहे हैं, लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने जब जगाने की कोशिश की तो पता चला कि इनकी मौत हो गई है। इसके बाद यहां से कुछ दूर दो और मजदूर बेहोशी की हालत में मिले, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

इन मजदूरों की हुई मौत
पुलिस के अनुसार नागदा निवाली विजय उर्फ कृष्णा (41) और पिपलौदा बागला निवासी शंकरलाल (40) की मौत हो गई। इनमें से शंकरलाल एक सैलून पर काम करता था। दोनों ही रोज शराब पिया करते थे। वहीं, दानी गेट निवासी बबलू (40) और छत्री चौक सराय निवासी बद्री लाल (65) बेहोश मिले थे। इन्होंने पुलिस को झिंझर पीने की बात बताई। शाम को इनकी भी मौत हो गई।

इसके बाद शाम सात बजे माधव गोशाला के पास 45 वर्षीय दिनेश जोशी का शव मिला। पुलिस के अनुसार वह भी शराब का लती था। इसी तरह शाम को ही महाकाल थाना क्षेत्र के बेगमबाग निवासी पीर शाह (45) की अस्पताल में मौत हो घई। इसके अलावा छत्री चौक की पार्किंग से एक 85 वर्षीय बुजुर्ग का शव मिला है। बुजुर्ग की पहचान अभी नहीं हो पाई है। 

मजदूर बोले- कहारवाड़ी से खरीदी थी झिंझर
गाेपाल मंदिर क्षेत्र में नशे में धुत्त एक मजदूर ने बताया कि सराय के अधिकांश मजदूर पोटली (झिंझर) पीते हैं। ये लोग कहारवाड़ी से झिंझर लेकर आते हैं, कहारवाड़ी में शंकर और बेबी नाम की महिला पोटली बेचती है। 20, 30 और 50 रुपए की पोटली भी मिलती है। वैन में रखकर भी एक व्यक्ति यहां शराब बेचता है।

डॉक्टर बोले- इस तरह अचानक किसी की मौत नहीं होती
सिविल हॉस्पिटल के डाॅ.जितेंद्र शर्मा ने बताया कि उन्होंने चार मजदूरों के शव का पीएम किया है। एकदम से ऐसे किसी की मौत नहीं होती। मजदूर लंबे समय से शराब पीते आ रहे थे। पुलिस से भी यह मालूम पड़ा कि ये लोग आदतन शराबी थे। मजदूरों की मौत का स्पष्ट कारण ताे बिसरा रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा।

कमेंट करें
iBY76