comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

महामेट्रो: लॉकडाउन के कारण लटका इलेक्ट्रिफिकेशन का काम

महामेट्रो: लॉकडाउन के कारण लटका इलेक्ट्रिफिकेशन का काम

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन मेट्रो रेल के साथ ही शहर के कुछ महत्वपूर्ण सड़कों पर भी काम कर रही है। इसमें महामेट्रो को पीडब्ल्यूडी, एनएचएआई और मनपा का साथ मिल रहा है। वर्धा महामेट्रो का फ्लाईओवर भी इसी का एक हिस्सा है। वैसे तो इस फ्लाईओवर को अप्रैल में पूरा होना था। परंतु लॉकडाउन के कारण ऐसा नहीं हो पाया। अब फ्लाईओवर का करीब-करीब सारा काम पूरा हो गया है। लॉकडाउन के कारण इलेक्ट्रिफिकेशन में उपयोग होने वाला सामान फैक्ट्री से नहीं मिल पाया है, इसलिए विलंब हो रहा है। उम्मीद है कि जल्दी ही सामान आ जाएगा और फ्लाईओवर का काम पूरा कर लिया जाएगा। अब तो बाजार भी खुलने लगे हैं। इसलिए फैक्ट्री से सामान आने में अब कोई परेशानी भी नहीं है। मेट्रो रेल प्रबंधन का कहना है कि जल्दी ही इस फ्लाईओवर को शुरू किया जाएगा। 

वर्धा रोड पर यातायात दबाव कम होगा 
नागपुर का यह फ्लाईओवर काफी खूबसूरत है। ट्रिपल लेयर वाले इस फ्लाईओवर की कई खासियतें हैं। यह फ्लाईओवर टू-वे है। 3.4 किलोमीटर के इस फ्लाईओवर शुरू होने के बाद वर्धा रोड पर यातायात दबाव कम होगा। लालबत्ती से बचा जा सकेगा। इससे समय की काफी बचत होगी। नीचे सड़क, उसके बाद फ्लाईओवर और सबसे ऊपर मेट्रो लाइन है। मेट्रो लाइन और फ्लाईओवर के लिए एक ही पिलर का उपयोग किया गया है।

जल्द ही खोला जाएगा शहरवासियों के लिए
इसका कार्य लगभग पूरा हो चुका है। सिर्फ इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य शेष है। इलेक्ट्रिक का सामान समय से नहीं मिला, इसलिए देरी हुई है। शहरवासियों के लिए इसे जल्द ही खोला जाएगा। -अखिलेश हलवे, डीजीएम (कॉरपोरेट), महामेट्रो

 पिछले साल बारिश ने कराई थी देरी 
यह फ्लाईओवर अजनी चौक से शुरू होकर सोनेगांव पुलिस स्टेशन तक है। वर्धा फ्लाईओवर का कार्य पिछले वर्ष बारिश के कारण देरी से चल रहा था। इसके बाद इसे पूरा करने की समयसीमा अप्रैल मंे रखी गई थी। यह कार्य एनएचएआई के साथ मिलकर महामेट्रो ने किया है। इसकी लागत 450 करोड़ है। 
 

कमेंट करें
IPGNl