दैनिक भास्कर हिंदी: महाराजबाग के बाघ को सर्दी-बुखार, कोरोना जांच के लिए स्वैब लिया

May 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  महाराजबाग प्राणी संग्रहालय के बाघ ‘जान’ की जान पर भी कोराेना का खतरा मंडराने लगा है। गत कुछ समय से जान सर्दी-बुखार से पीड़ित है। प्राणी संग्रहालय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, ‘जान’ की कोरोना जांच के लिए वन विभाग के चिकित्सकों द्वारा स्वैब के नमूने लिए गए हैं। उसे जांच के लिए दत्ता मेघे मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला में भेजा गया है। जल्द ही इसकी रिपोर्ट आएगी

सभी बड़े प्राणियों की होगी कोरोना जांच
सेंट्रल जू अथॉरिटी द्वारा गाइडलाइन जारी कर प्राणी संग्रहालय के सभी बड़े प्राणियों की कोराेना जांच के निर्देश दिए गए थे। साथ ही कोरोना से इन प्राणियों की रक्षा के लिए विशेष सावधानियां बरतने के लिए भी कहा गया था। महाराजबाग प्राणी संग्रहालय के प्रभारी अधिकारी डॉ. सुनील बावस्कर द्वारा इन प्राणियों की कोराेना जांच जल्द शुरू करने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन वन्यजीवों के स्वैब की जांच के लिए प्रयोगशाला न होने की वजह से लंबे समय से जांच नहीं की जा रही थी।  
रेस्क्यू सेंटर में भी एहतियात बरत रहे

वन विभाग के सिविल लाइंस स्थित ट्रांजिट रेस्क्यू सेंटर में भी प्राणियों के उपचार एवं देखभाल में विशेष सावधानी बरती जा रही है। उपचार के दौरान यहां के चिकित्सकों को विशेष प्रकार के पीपीई किट उपलब्ध कराए गए हैं। यह पीपीई किट रेस्क्यू सेंटर के कर्मचारियों द्वारा टेरिकॉट कपड़े से तैयार किए गए हैं। वन्यजीवों के उपचार के दौरान इसी पीपीई किट का उपयोग किया जा रहा है। खास बात यह है कि ये पीपीई किट वॉशेबल हैं तथा धोकर बार-बार उपयोग मेंे लाए जा रहे हैं।

फिलहाल आइसोलेट 
जान की तबीयत बिगड़ने पर 19 मई की दोपहर तकरीबन 1.10 बजे स्वैब के नमूने लिए गए हैं। जांच के लिए दत्ता मेघे मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला में भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही जान का उपचार किया जाएगा। फिलहाल जान को आइसोलेट कर दिया गया है। डॉ. सुनील बावस्कर, प्रभारी अधिकारी, महाराजबाग