दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र : गोंदिया, हिंगोली सहित राज्य में बनेंगे चार नए जेल

July 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश के हिंगोली, अहमदनगर, गोंदिया और पालघर में नए जेल बनाए जाएंगे। राज्य सरकार के गृह विभाग ने चार नए कारागार के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार किया है। राज्य के गृह विभाग के एक अधिकारी ने बातचीत में यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि कोरोना महामारी में पेरोल सहित अन्य कारणों से लगभग 12 हजार कैदियों को रिहा किया गया है। इसके बावजूद जेलों में क्षमता से 35 प्रतिशत ज्यादा कैदी हैं। राज्य की जेलों में कैदियों की क्षमता के अनुपात में कैदियों की संख्या हमेशा अधिक रहती है। इसलिए राज्य में नए जेलों की जरूरत पड़ रही है। राज्य के तीन जिले गोंदिया, हिंगोली और पालघर में जेल नहीं हैं। इसलिए तीनों जगहों पर कारागार बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। जबकि अहमदनगर का जेल काफी पुराना हो चुका है। इसलिए अहमदनगर में भी नया जेल बनाया जाएगा। अहमदनगर जेल के निर्माण कार्य के लिए सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग से अनुमानित खर्च का प्रस्ताव मंगाया गया है। यह प्रस्ताव मिलने के बाद जेल के निर्माण की लागत का पता चल सकेगा। 

अधिकारी ने कहा कि गोंदिया और हिंगोली में जेल के निर्माण के लिए जमीन चिन्हित करने का काम शुरू है। गोंदिया में कैदियों की संख्या कम होने के कारण पहले जेल के निर्माण को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी लेकिन भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए यहां पर जेल का निर्माण तय किया गया है। वहीं पालघर में जेल बनाने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय के पास में जमीन मिली है। ठाणे जिले का विभाजन करके साल 2014 में नया पालघर जिला बनाया गया है। ठाणे जेल में कैदियों की संख्या क्षमता से काफी अधिक है। इसलिए पालघर में नया जेल बनाने का फैसला लिया गया है। प्रदेश में फिलहाल 45 स्थलों पर कुल 60 जेल हैं। 

जेलों में क्षमता से अधिक कैदी 
जेल विभाग के अनुसार राज्य की सभी जिलों में 24 हजार 722 कैदियों को रखने की अधिकृत क्षमता है। जबकि गत 26 जून के आंकड़ों के अनुसार जेलों में कैदियों की संख्या 33 हजार 790 है। फिलहाल जेलों में क्षमता के मुकाबले 35 प्रतिशत ज्यादा कैदी हैं। 

राज्यभर में 60 जेल 
राज्य में 9 सेंट्रल जेल, 28 जिला जेल, 19 खुली जेल,1 विशेष जेल, 1 किशोर सुधारालय, 1 खुली वसाहत, 1 महिला जेल सहित कुल 60 जेल है। 

खबरें और भी हैं...