दैनिक भास्कर हिंदी: दो वर्ष पहले उज्जैन में बेची गई युवती , चार पर केस दर्ज

February 19th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  दो वर्ष पहले शहर की एक युवती को बेहोश कर मध्यप्रदेश के उज्जैन में बेचने का मामला सामने आया है। पीड़िता रविवार को पति के साथ गिट्टीखदान थाना पहुंची। तीन महिला समेत चार लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया गया है। आरोपी फरार हैं।

टेलर को 75 हजार में बेचा 
पीड़ित 22 वर्षीय महिला गिट्टीखदान क्षेत्र की निवासी है, जबकि आरोपी उसी क्षेत्र की आशा रोकडे, उषा रोकडे, चंदा गजभिये और अन्य एक हैं। पीड़िता और आरोपी महिलाएं एक-दूसरे से परिचित थीं। वर्ष 2017 में काम दिलाने का बहाना कर पीड़िता को बेहोशी की दवा सुंघाकर बेहोश किया गया और ट्रेन से मध्यप्रदेश के उज्जैन शहर में ले जाया गया। वहां पर 75 हजार रुपए में पीड़िता को पेशे से टेलर एक व्यक्ति को बेच दिया गया। शिकायत में पीड़िता ने बताया कि शादी के नाम पर उसे बेचे जाने की बात वह जानती थी, मगर इस बात से उसका पति अनभिज्ञ था। इससे यह सवाल उठ रहा है कि आरोपियों को दिए गए पैसे किस बात के थे। इससे यह माना जा रहा है कि पीड़िता प्रकरण में अपने पति को बचा रही है। बहरहाल पीड़िता को बेचने के बाद भी उसने कभी वहां से भागने का प्रयास नहीं किया है। अपनी किस्मत मानकर उस व्यक्ति को ही अपना पति मान लिया और नई  जिंदगी की शुरुआत की। पूरे मामले में शुरुआत में किसी बड़े गिरोह की आशंका नजर आ रही थी। मगर जैसे ही मामला खुलता रहा शक की सुई जान पहचान और अपने वालों तक चली गई।

रिश्तेदार की अंत्येष्टि में आने से हुआ खुलासा
पीड़िता के नवजात बच्चे की मौत हो गई। पति के कहने पर और मायके में भी किसी की मौत होने पर चार-पांच दिन पहले वह नागपुर आई, जिससे उपरोक्त चारों लोगों द्वारा उसे बेचने का खुलासा हुआ है। मामला थाने पहुंचा। प्रकरण दर्ज होने की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गए हैं। आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी है। 
 

खबरें और भी हैं...