दैनिक भास्कर हिंदी: प्लास्टिक के बाद अब रासायनिक खाद पर रोक लगाएगी महाराष्ट्र सरकार

June 6th, 2018

हाईलाइट

  • प्लास्टिक पर पाबंदी के बाद अब सरकार खेतों में इस्तेमाल होने वाले रासायनिक खाद के इस्तेमाल पर रोक लगाने को लेकर गंभीरतापूर्वग विचार कर रही है।
  • यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान में विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कदम ने कहा कि पूरी दुनिया ने प्लास्टिक पर पाबंदी का फैसला लिया है।
  • महाराष्ट्र की जनता भी प्लास्टिक के दुष्परिणामों को जान गई है, इस लिए लोग खुद ही प्लास्टिक की बजाय कपड़े की थैली का इस्तेमाल करने लगे हैं।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्लास्टिक पर पाबंदी के बाद अब सरकार खेतों में इस्तेमाल होने वाले रासायनिक खाद के इस्तेमाल पर रोक लगाने को लेकर गंभीरतापूर्वग विचार कर रही है। राज्य के पर्यावरण मंत्री रामदास कदम ने यह बात कही है। यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान में विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कदम ने कहा कि पूरी दुनिया ने प्लास्टिक पर पाबंदी का फैसला लिया है। महाराष्ट्र की जनता भी प्लास्टिक के दुष्परिणामों को जान गई है, इस लिए लोग खुद ही प्लास्टिक की बजाय कपड़े की थैली का इस्तेमाल करने लगे हैं।

उन्होंने कहा कि नदी, समुद्र व समुद्री किनारे प्लास्टिक से भरे पड़े हैं। इसका दुष्परिणाम मानवी जीवन के साथ-साथ वातावरण पर भी पड़ रहा है। इसकी वजह से कार्बन डाई आक्साईड का प्रमाण बढ़ रहा है। फलस्वरुप तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। किसानों को भी सूखे का स्थिति का सामना करना पड़ता है। पर्यावरण मंत्री ने कहा कि खेती में इस्तेमाल होने वाले रासायनिक खाद से अनाज में विषैले घटक का प्रमाण बढ़ रहा है। जिसकी वजह से लोग रोगों की चपेट में आ रहे हैं। इस लिए पर्यावरण विभाग प्लास्टिक बंदी के बाद अब रासायनिक खाद पर पाबंदी लगाने की बाबत विचार कर रहा है।

प्लास्टिक पाबंदी के लिए मनपा-नपा को पुरस्कार
पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सौ फीसदी प्लास्टिक पांबदी को लागू करने वाली राज्य की महानगरपालिकाओं को प्रोत्साहन स्वरुप नकद पुरस्कार दिया जाएगा। महानगरपालिका को 25 लाख, नगर परिषद को 15 लाख और 6 राजस्व विभाग के एक-एक ग्राम पंचायत को 10 लाख रुपए बतौर पुरस्कार दिए जाएंगे। राज्य के पर्यावरण राज्यमंत्री प्रविण पोटे-पाटील ने कहा कि पर्यावरण विभाग  प्लास्टिक पाबंदी के फैसले को लागू करने में सफल रहा है। पर्यावरण विभाग के प्रधान सचिव सतीश गवई ने कहा कि महाराष्ट्र मे प्लास्टिक पाबंदी की सफलता को देखते हुए अब तमिलनाडू सरकार ने भी हमसे इस कानून की जानकारी लेकर 1 जनवरी 2019 से वहां भी प्लास्टिक पांबदी लगाने का फैसला लिया है।