comScore

महाराष्ट्र: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, शिवसेना ने दिया नारा ‘नरेंद्र+ देवेंद्र=वसूली केंद्र’

महाराष्ट्र: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, शिवसेना ने दिया नारा ‘नरेंद्र+ देवेंद्र=वसूली केंद्र’

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। ऐसे में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को  भाजपा की केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। शिवसेना ने देशभर के अलग-अलग शहरों में विरोध जताया। 

इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने बैनर-पोस्टर पर अलग-अलग तरह के नारे लिखे। प्रदर्शनकारियों ने ‘नरेंद्र+देवेंद्र=वसूली केंद्र’, ‘अबकी बार पेट्रोल 100 के पार’ और ‘केंद्र सरकार तुपाशी, ग्राहक मामा उपाशी’ जैसे नारों से केंद्र सरकार का विरोध जताया। 

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उनका प्रमुख मुद्दा किसान आंदोलन और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें हैं। साथ ही शिवसेनिकों ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार के सामने कई मुद्दे हैं, लेकिन केंद्र सरकार सबको अनदेखा करती जा रही है।

बता दें कि जनवरी में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कई बार बढ़ोत्तरी की गई है। इस कारण अब तक पेट्रोल जहां 3.24 रुपए महंगा हुआ है, वहीं डीजल के दाम 3.26 रुपए बढ़ाए जा चुके हैं। जानकारों की माने तो देश में पेट्रोल की कीमत 100 के पार जाने की आशंका जताई जा रही है।
 
बता दें कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम कम होने के बावजूद भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें प्रतिदिन बढ़ रही हैं। इस कारण शिवसेनिकों ने इस ओर लोगों का ध्यान केंद्रित करने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

विदर्भ में दिन भर चलता रहा आंदोलनों का दौर 

विदर्भ में शुक्रवार को दिन भर आंदोलनों का दौर चलता रहा। भारतीय जनता पार्टी ने जहां कोरोनाकाल के दौरान आए बिजली बिल की माफी को लेकर विदर्भ के सात जिलों के हर महावितरण कार्यालय के समक्ष ताला जड़ो आंदोलन किया वहीं शिवसेना ने पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस के बढ़े हुए दामों को लेकर रोष जताते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ जगह-जगह प्रदर्शन किया। इस बीच यवतमाल जिले के महावितरण कार्यालय के गेट पर कवरेज कर रहे एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार की पुलिसकर्मी ने पिटाई कर दी। विदर्भ के वर्धा, यवतमाल, गड़चिरोली, चंद्रपुर, गोंदिया, भंडारा और अमरावती में भाजपा और शिवसेना ने अपनी-अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। शिवसेना ने जहां अनेक स्थानों पर साइकिल रैली, बैलगाड़ी-घोड़ागाड़ी लाकर पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों को घटाने की मांग की वहीं भाजपा ने विद्युत कार्यालयों पर ताला जडऩे का प्रयास किया। 

बीड और माजलगांव में शिवसेना का आंदोलन 

उधर माजलगांव में बैलगाड़ी पर बैठकर शिवसेना नेताओं ने प्रदर्शन किया। रसोई गैस के दामों में दो महीने में दूसरी बार वृद्धि कर दी गई। वृद्धि के खिलाफ शिवसेना तहसील अध्यक्ष आप्पासाहेब जाधव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने बैलगाड़ी पर सवार होकर केंद्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

कमेंट करें
Av6V0