दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली में स्कूल-कॉलेज खोलने की तैयारी, डिप्टी सीएम सिसोदिया ने अभिभावकों से मांगी राय

July 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार स्कूल-कॉलेज को फिर से खोलने की तैयारी करने में जुटी है। इसके लिए डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से इस बारे में सुझाव मांगे हैं कि क्या राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल और कॉलेज फिजिक्स क्लासेस के लिए फिर से खुलने चाहिए।

यह कदम कई राज्यों द्वारा या तो स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोलने की घोषणा के बाद आया है, या आने वाले महीनों में ऐसा करने की योजना बना रहे हैं। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, जिनके पास शिक्षा विभाग भी है, उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जहां कई अभिभावकों और शिक्षकों ने स्कूलों को फिर से खोलने में रुचि दिखाई है, वहीं उन्होंने छात्रों की सुरक्षा पर भी अपनी चिंता व्यक्त की है।

मनीष सिसोदिया ने कहा, सरकारी स्कूलों में चल रही अभिभावक-शिक्षक बैठकों (पीटीएम) के दौरान, कई अभिभावकों और शिक्षकों ने कहा कि स्कूलों और कॉलेजों को अब फिर से खोल दिया जाना चाहिए क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड की स्थिति नियंत्रण में है। हालांकि, इससे पहले कि राज्य सरकार कोई निर्णय लेती। दिल्ली के शिक्षा मंत्री के रूप में, मैं इस मुद्दे पर माता-पिता और शिक्षकों और यहां तक कि छात्रों से भी सुझाव आमंत्रित करना चाहता हूं।

दिल्ली के नागरिक, जिनके बच्चे निजी/सरकारी स्कूलों या कॉलेजों में नामांकित हैं, अपने विचार ई-मेल के माध्यम से भेज सकते हैं। ई-मेल में छात्र और स्कूल / कॉलेज के नाम और एक संक्षिप्त सुझाव शामिल होना चाहिए कि क्या स्कूल या कॉलेज राष्ट्रीय राजधानी में फिर से खुलने चाहिए। सिसोदिया ने कहा, हम सभी विचारों को एकत्र करेंगे और मामले को देखने वाली समिति के समक्ष पेश करेंगे।

डिप्टी सीएम ने यह भी बताया कि 19 जुलाई से पांच लाख से अधिक माता-पिता डिजिटल और शारीरिक रूप से पीटीएम में शामिल हुए हैं। दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय (डीओई) ने छात्रों की प्रगति का आकलन करने के लिए सभी सरकारी स्कूलों में पीटीएम शुरू किया है। यह प्रक्रिया 30 जुलाई को समाप्त होगी। राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल और कॉलेज कोविड महामारी के प्रकोप के बाद मार्च 2020 से बंद हैं।

खबरें और भी हैं...