दैनिक भास्कर हिंदी: सुप्रीम कोर्ट पहुंचा काटोल उपचुनाव का मामला, राज्य सरकार को नोटिस

April 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  काटोल विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव कराने का मुद्दा अब सर्वोच्च न्यायालय पहुंच गया है। दिनेश टुले ने दायर याचिका में बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ के फैसले को चुनौती दी है। नागपुर खंडपीठ ने 11 अप्रैल को काटोल में उपचुनाव कराने का चुनाव आयोग का फैसला खारिज कर दिया था। अब सर्वोच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ता का पक्ष सुनकर प्रतिवादी राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। हालांकि इस दौरान कोर्ट ने याचिकाकर्ता को कोई भी अंतरिम राहत नहीं दी। नागपुर खंडपीठ ने अपने फैसले में निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किए चुनावी नोटिफिकेशन को रद्द कर दिया था। यह निरीक्षण दिया था कि चुनावी नोटिफिकेशन जारी करते वक्त निर्वाचन आयोग ने कई पहलुओं पर गौर नहीं किया।

इस्तीफे के बाद सीट खाली हुई
 काटोल के विधायक आशीष देशमुख के इस्तीफा देने के बाद से यह सीट खाली है। याचिकाकर्ता ने विधानसभा चुनावों को चुनौती दी थी। तर्क था कि अभी चुनाव लेने से मनुष्यबल, संसाधनों के अलावा अनावश्यक खर्च होगा, क्योंकि 6 माह में ही काटोल समेत प्रदेश भर में विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य सरकार पहले ही काटोल को सूखा प्रभावित क्षेत्र घोषित कर चुकी है। ऐसे में 11 अप्रैल के विधानसभा चुनाव के कारण जनता का खर्च बढ़ेगा और इससे कोई फायदा नहीं होगा। मामले में हाईकोर्ट ने 19 मार्च काे आदेश जारी करते हुए चुनावों पर अंतरिम स्थगन लगाया था। इधर, चुनाव आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय की शरण ली, लेकिन उन्हें सर्वोच्च न्यायालय से कोई राहत नहीं मिली। लेकिन नागपुर खंडपीठ के स्थगन के कारण क्षेत्र में 11 अप्रैल को विधानसभा उपचुनाव नहीं हो सके। 

फुटपाथ से हटाया अतिक्रमण
हनुमान नगर में बीच रास्ते पर अवैध निर्माण कर रास्ता बंद कर दिया गया था। इस पर मनपा के अतिक्रमण विरोधी दस्ते ने सोमवार को कार्रवाई करते हुए अवैध निर्माण हटाकर दोबारा से यातायात सुचारु कर दिया। वहीं दो जोन से फुटपाथ पर किए गए 60 अतिक्रमणों को हटाया गया। जानकारी के अनुसार हनुमान नगर जोन के महावीर गार्डन के पास स्थित सत्यफुला पिंपरामुले के सामने का रास्ता बंद कर अवैध निर्माण कर लिया गया था, जिसे हटा दिया गया, जिससे दोबारा यातायात चालू हो गया। इसके बाद अतिक्रमण दस्ता छोटा ताजबाग पहुंचा, यहां से कमला नेहरू कॉलेज, सक्करदरा तक फुटपाथ पर लगे 25 अतिक्रमणों पर कार्रवाई की गई। वहीं लकड़गंज जोन में डिप्टी सिग्नल से पारडी चौक, हिवरी नगर चौक, लकगड़गंज जोन तक फुटपाथ पर लगे 35 अतिक्रमणों का सफाया किया।