दैनिक भास्कर हिंदी: उस्मानाबाद में बनेगा मेडिकल कालेज व 400 बिस्तरों वाला अस्पताल

January 14th, 2021

डिजिटल डेस्क,  मुंबई। उस्मानाबाद में सरकारी मेडिकल कॉलेज और 430 बिस्तरों वाला अस्पताल शुरू किया जाएगा। बुधवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में फैसले को मंजूरी दी गई। नए सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के लिए 674.14 करोड़ रुपए उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही आवश्यक पद के सृजन और पद भर्ती को मंजूरी दी गई है। नए सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के लिए राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग के मानकों के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के अधीन जिला सामान्य अस्पताल, स्त्री अस्पताल और क्षय रोग अस्पताल अचल संपत्ति सहित अस्थायी रूप में चिकित्सा शिक्षा विभाग को निशुल्क इस्तेमाल करने की मंजूरी दी गई है। इसके अलावा मेडिकल कॉलेज व संलग्नित अस्पताल सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल पर स्थापित करने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी गई है।

निजी कौशल्य विश्वविद्यालय खोलने विधेयक को मंजूरी
राज्य में स्थायी स्वयं अर्थसहायता के आधार पर निजी कौशल विश्वविद्यालय स्थापित करने संबंधित दिशानिर्देश व मॉडल विधेयक को राज्य मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। स्किल इंडिया के तर्ज पर कुशल महाराष्ट्र-रोजगारयुक्त महाराष्ट्र के संदर्भ में नीति तय करते हुए राज्य में कौशल्य विश्वविद्यालय बनाने के लिए राज्य मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। कौशल्य विश्वविद्यालय के माध्यम से कौशल्य क्षेत्र में ग्रेजुएट, डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री, सर्टिफिकेट कोर्स, प्रमाण पत्र पाठ्यक्रमों को लागू किया जाएगा।

नए कालेज के लिए 28 फरवरी तक कर सकेंगे आवेदन
महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के अधिनियम में संशोधन को राज्य मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। इससे नए महाविद्यालयों के लिए प्रस्ताव 28 फरवरी तक स्वीकार किए जा सकेंगे। स्वास्थ्य विज्ञान पाठ्यक्रमों के नए कॉलेज को शुरू करने के लिए महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय व सरकार को प्रस्ताव पेश करने संबंधी संशोधन किया गया है। इससे शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के लिए उच्च शिक्षा के नए महाविद्यालय अथवा संस्था शुरू करने के लिए मंजूरी मांगने वाले प्रबंधन 28 फरवरी 2021 अथवा उससे पहले विश्वविद्यालय के कुलसचिव के पास आवेदन कर सकेंगे। कोरोना के कारण विभिन्न संस्थाओं के कॉलेज की इमारत और अस्पताल के निर्माण कार्य संबंधी अनुमति समय पर नहीं मिल पाई थी। इसके मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।