दैनिक भास्कर हिंदी: मेट्रो बिल्डकॉन फ्रॉड : सरकारी शिक्षक गिरफ्तार , 7 लाख नकद बरामद

November 26th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मेट्रो बिल्डकॉन कंपनी धोखाधड़ी प्रकरण में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। उसका नाम तन्मय जाधव (28) है। वह  नंदनवन का रहने वाला है। उससे 7 लाख रुपए नकद बरामद हुआ है। तन्मय को प्रतापनगर पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने 3 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। तन्मय की गिरफ्तारी के साथ ही इस धोखाधड़ी प्रकरण से जुड़े आरोपियों की संख्या 10 हो गई है। इसके पहले मुख्य आरोपी विजय गुरनुले सहित 9 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। तन्मय जाधव शासकीय टीचर है। विजय गुरनुले ने तन्मय जाधव को धोखाखड़ी मामले से बाहर निकालने के लिए 7 लाख रुपए दिए थे। तन्मय की भूमिका इस प्रकरण में महत्वूर्ण बताई जा रही है। 

इन आरोपियों का पीसीआर बढ़ा 
तन्मय जाधव के पहले इस प्रकरण में मेट्रोविजन बिल्डकॉन कंपनी के मुख्य संचालक विजय रामदास गुरनुले, देवेंद्र भीमराव गजभिये, ज्ञानेश्वर बावणे, जीवनदास दंडारे, रमेश बिसेन, अतुल मेश्राम, अविनाश महाडोले, श्रीकांत निकुरे और राजू मोहुर्ले गिरफ्तार हो चुके हैं। विजय गुरनुले को पहले ही  3 दिसंबर तक पीसीआर मिला है।  देवेंद्र भीमराव गजभिये और रोशन कडू को बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने इन दोनों को 27 नवंबर तक पीसीआर पर भेज दिया। ज्ञानेश्वर बावणे, जीवनदास दंडारे, रमेश बिसेन, अतुल मेश्राम, अविनाश महाडोले, श्रीकांत निकुरे और राजू मोहुर्ले  को भी 27 नवंबर तक पुलिस रिमांड मिली है।

होगी पूछताछ
 सूत्रों के अनुसार, विजय गुरनुले ने अमरावती में जिस विधवा महिला रिश्तेदार के घर के आंगन में नकदी 48.47 लाख रुपए गाड़कर रखे थे, उस महिला व एक अन्य व्यक्ति से पूछताछ की जाएगी। इस महिला व उस व्यक्ति का बयान लिया जाएगा। इसके लिए पुलिस उन्हें नोटिस भेजेगी।

विजय गुरनुले से जुड़े लोग भूमिगत
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, वेबसाइट पर मेट्रोविजन बिल्डकॉन कंपनी के बारे में दी गई जानकारी में निदेशकों में विजय गुरनुले, उसकी रिश्तेदार विद्या गुरनुले और उसकी पत्नी स्मिता विजय गुरनुले का नाम शामिल है। धोखाधड़ी प्रकरण के उजागर होते ही मुख्य आरोपी विजय गुरनुले से जुड़े कुछ लाेगों के भूमिगत हो जाने की खबरें सामने आ रही हैं। विजय गुरनुले ने अपनी कंपनी में परिजनों के अलावा किन रिश्तेदारों को संचालक मंडल में जोड़ रखा था, इसकी छानबीन पुलिस कर रही है। बीकॉम पास  विजय गुरनुले ने करोड़ों की ठगी की योजना कैसे बनाई, पुलिस इसकी छानबीन कर रही है। सूत्रों का कहना है कि विजय गुरनुले की इस धांधली में मास्टर माइंड कोई और तो नहीं है। इस दिशा में भी छानबीन शुरू होने की खबर है। सूत्र बताते हैं कि विजय गुरनुले ने हिंगना रोड पर कुछ ले-आउट का कारोबार भी शुरू किया था।