दैनिक भास्कर हिंदी: मिहान की उपेक्षा , छह माह से सीएमडी का इंतजार

December 12th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  मल्टी-मॉडल इंटरनेशनल कार्गो हब एंड एयरपोर्ट एट नागपुर (मिहान) की महाविकास अघाड़ी की सरकार में उपेक्षा होती दिखाई दे रही है। करीब छह माह बीतने के बाद भी नए सीएमडी दीपक कपूर ने अब तक मिहान में दस्तक नहीं दी है। चर्चा है कि, मिहान के चेयरमैन रुचि नहीं ले रहे हैं। मिहान का चेयरमैन पदेन मुख्यमंत्री होता है।

विकास ठंडे बस्ते मे
जानकारी के अनुसार 2019 में मिहान के सीएमडी सुरेश काकाणी थे और नियमित रूप से उनका मिहान में दौरा होता था। इसके बाद कुछ समय के लिए मिहान सीएमडी के रूप में सचिन कुर्वे ने पदभार संभाला। उनके जाने के बाद यह पद करीब 3 से 4 माह खाली रहा। जून के करीब सीएमडी के रूप में दीपक कपूर ने जिम्मेदारी संभाली। अब हैरानी की बात यह है कि, पिछले छह माह से नए सीएमडी ने मिहान में कदम नहीं रखा है। कोरोनाकाल के दौर में जहां लोग नई-नई तकनीक का उपयोग कर मैदान में डटे हुए हैं। नए सीएमडी अब तक मैदान में ही नहीं आए है। ऐसे में मिहान का विकास ठंडे बस्ते में पड़ा दिखाई दे रहा है।

सरकार बनने के पहले आए थे शरद पवार
 महाराष्ट्र में जब सरकार बनाने को लेकर संग्राम छिड़ा हुआ था उस समय राकांपा सुप्रीमों नागपुर जिले में फसलों का जायजा लेने के लिए दौरे पर आए थे। उन्होंने मिहान का दौरा कर अधिकारियों से मुलाकात की थी और विकास को गति देने की बात कही थी। वर्तमान सरकार में राकांपा महाविकास अघाड़ी का हिस्सा है। उनकी पार्टी के उप-मुख्यमंत्री और गृहमंत्री दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं।

विदर्भ को बड़ा नुकसान
एक ओर कोरोना महामारी ने मिहान की रफ्तार को धीमा कर दिया है। वर्तमान में मिहान में सभई गतिविधियां लगभग बंद पड़ी हैं। नए सीएमडी बनने के बाद दीपक कपूर अब तक मिहान तक नहीं पहुंचे है। मिहान के विकास को गति नहीं मिलने से विदर्भ के युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। साथ ही कच्चे माल की आवक भी नहीं बढ़ पा रही है।