कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री: ओमिक्रॉन संक्रमितों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों में पाए गए हल्के लक्षण

December 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने गुरुवार को कहा कि ओमिक्रॉन संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए सभी पांच लोगों को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है और उन्हें आइसोलेट कर दिया गया है तथा उनका इलाज सरकारी अस्पताल में किया गया है। उन्होंने कहा, मैं लगातार डॉक्टरों के संपर्क में हूं। ऐसी कोई समस्या नहीं है। मरीजों में कोई गंभीर लक्षण नहीं दिख रहे हैं। केवल हल्के लक्षण पाए गए हैं और यह हमारे लिए राहत की बात है। हालांकि, सुधाकर ने यह भी कहा कि वे राज्य में ओमिक्रॉन वायरस के प्रसार की भविष्यवाणी नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, हम यह बताने की स्थिति में नहीं हैं कि नया किस तरह से फैलेगा।

उन्होंने कहा कि दोनों संक्रमित व्यक्तियों ने कोविड टीकाकरण की दो खुराक ली थी। हालांकि, उन्होंने आगे कहा, घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हमने ओमिक्रॉन वायरस से जुड़े कोई गंभीर लक्षण नहीं देखे हैं। हमने डेल्टा वैरिएंट में सांस लेने की समस्याओं सहित गंभीर लक्षण देखे हैं। हालांकि, ओमिक्रॉन से प्रभावित लोगों में ऐसे कोई गंभीर लक्षण नहीं पाए गए हैं, मगर फिर भी सावधानी बरतनी चाहिए।

सुधाकर ने कहा कि कर्नाटक में स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा किए गए तेजी से परीक्षण के कारण ओमिक्रॉन वायरस का जल्दी पता लगाया जा सका है। दो संक्रमित व्यक्तियों के प्राथमिक और द्वितीयक संपर्क न केवल पाए गए हैं, बल्कि उनका परीक्षण और पुन: परीक्षण किया गया है। उन्होंने कहा कि दुबई गए संक्रमित व्यक्ति ने बेंगलुरु हवाई अड्डे तक पहुंचने के लिए एक टैक्सी का इस्तेमाल किया और अधिकारियों ने इसका पूरा ट्रैक रखा है।

मंत्री ने आगे कहा कि नए वैरिएंट की चपेट में आने वाला एक अन्य संक्रमित व्यक्ति स्थानीय 46 वर्षीय डॉक्टर है। उन्हें परीक्षण से पहले गंभीर कमजोरी, बुखार और थकान के लक्षण थे। उनका नमूना जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था, जिसके परिणाम गुरुवार को सामने आए। ओमिक्रॉन संक्रमित दक्षिण अफ्रीकी नागरिक का यात्रा इतिहास (ट्रैवल हिस्ट्री) है, लेकिन डॉक्टर का कोई यात्रा इतिहास नहीं है। उन्होंने कहा, मैंने विशेष रूप से हवाई अड्डों पर परीक्षण और ट्रैकिंग बढ़ाने पर मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई से बात की है। और भी कड़े उपायों की जरूरत है और मैं लोगों से मास्क पहनने की अपील करता हूं। सुधाकर ने ऐसे लोगों से, जिन्होंने टीका नहीं लगवाना है, उनसे तुरंत वैक्सीन की पहली/दूसरी खुराक लेने का भी आग्रह किया।

(आईएएनएस)