दैनिक भास्कर हिंदी: जनता दरबार में खाली पड़ी रही कुर्सियां, मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलने से जनता का मोहभंग, प्रशासन पर भड़के पालकमंत्री

January 29th, 2019

डिजिटल डेस्क,  नागपुर। आमजन की समस्याओं को सुलझाने का काम ठीक से नहीं चल रहा है। यही वजह है कि नागरिकों को  सड़क, पानी और सीवर लाइन के लिए भी जनता दरबार में आना पड़ रहा है। यह नाराजगी पालमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने  हनुमान नगर जोन कार्यालय में आयोजित जनता दरबार में व्यक्त की। आयोजन स्थल पर आधी कुर्सियां खाली पड़ी थीं। सिर्फ 80 शिकायतें मिलीं। नागरिकों का अपेक्षित प्रतिसाद नहीं मिला। इसे देख जनता दरबार से नागरिकों का मोहभंग होता साफ हो रहा है।  मंच पर  पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के साथ महापौर नंदा जिचकार, आयुक्त अभिजीत बांगर, हनुमान नगर जोन सभापति विशाखा बांते, जलप्रदाय समिति सभापति पिंटू झलके, अतिरिक्त आयुक्त रवींद्र ठाकरे, राम जोशी, नगरसेविका उषा पेलट, कल्पना कुंभलकर, शीतल कामड़े, लीला हाथीबेड, मंगला खेकरे, माधुरी ठाकरे, विद्या मडावी, नगरसेवक सतीश होले, अभय गोटेकर, दीपक चौधरी, भगवान मेंढे, नरेश मानकर उपस्थित थे।

पालकमंत्री ने कहा कि सामान्य सुविधाओं की शिकायतें ज्यादा हैं। इसका मतलब साफ है कि नागरिकों की समस्यों का समाधान नहीं हो रहा है। नागरिकों की समस्याओं पर विशेष ध्यान देकर निपटारा करने, गंदगी नष्ट करने के उन्होंने मनपा प्रशासन को निर्देश दिए। वहीं महापौर जिचकार ने स्वच्छता सर्वेक्षण में सफाई को लेकर उठे सवाल पर अधिकारियों को फटकार लगाई। कई लोगों ने अतिक्रमण की शिकायतें की। कमला नेहरू में अतिक्रमण होने की शिकायत पर पालकमंत्री ने कहा, यदि अतिक्रमण है तो कार्रवाई करो। 

नगरसेवकों और जनता के बीच नोंक-झोंक
पालकमंत्री से शिकायत करने पर नगरसेवक दीपक चौधरी जवाब देने लगे, तो शिकायतकर्ता भड़क गए। कहने लगे इस काम के लिए मैं टैक्स देता हूं। समस्या सुलझाने के लिए लिखित शिकायत करना मेरा काम नहीं है। नगरसेवक चौधरी को माइक दो, मैं उनसे ही बात करता हूं। उन्हें बीच में बोलने की जरूरत नहीं है। शिकायतकर्ता ने कहा कि जगनाड़े चौक पर भारत मूक-बधिर विद्यालय है। वहां सफाई नहीं होती। दुर्घटना का खतरा मंडरा रहा है। नगरसेवक ध्यान नहीं देते। शिकायत पर नगरसेवक सतीश होले ने कहा, यह हमारा काम नहीं है। पालकमंत्री ने हस्तक्षेप किया। उन्होंने कहा िक यह शहरभर की समस्या है। इसमें सुधार किया जाएगा। पुलिस के साथ मिलकर विशेष मुहिम चलाई जाएगी।

खुले प्लॉट के लिए नीति तय करो
शहर में हजारों खुले प्लाट हैं, जिनके मालिकों का अता-पता नहीं है। पालकमंत्री ने कहा कि इस समस्या से निपटने के लिए नीति तैयार करो। यदि खुले प्लाट पर कचरे की जिम्मेदारी मालिक की होगी। पहले बोर्ड पर नोटिस लगाकर सुधरने का मौका दो। फिर भी सुधार नहीं होने पर प्लाट जब्त िकया जाएगा। प्लाट पर गंदगी और पौधों की सफाई के लिए जोनस्तर पर 2 जेसीबी खरीदे जाएंगे। सफाई का खर्च प्लाटधारक से वसूल किया जाए। 

म्हाडा ग्राउंड रेट पर होगी बैठक
म्हाडा के रहवासी क्षेत्र के अनेक नागरिकों ने ग्राउंड रेट, रजिस्ट्री और वारिस के नाम पर स्थानांतरण की समस्या दर्ज करवाते हुए कई सारी शिकायतें दर्ज की। शिकायतकर्ताओं का कहना था कि म्हाडा की बस्तियों का मनपा की तरफ हस्तानंतरण होने के बाद भी उनसे ग्राउंड रेट वसूल किया जा रहा है। इस पर पालकमंत्री ने अधिकारियों से सवाल किया तो वह नियम का हवाला देने लगे। पालकमंत्री ने कहा कि एक बैठक लेकर मामले की स्थिति को समझा जाएगा, म्हाडा सुविधा नहीं दे रही है, तो ग्राउंड रेट कैसे वसूलेगी।

स्कूल के लिए नीति तैयार करो
मनपा के विद्यालयों में जहां विद्यार्थी कम हैं, ऐसे स्कूल िनजी स्कूलों को देकर उनके साथ सामंजस्य करार किया जाए। जिससे स्कूलों का उचित उपयोग किया जा सके और विद्यार्थियों को उसका लाभ मिल सके। शिकायतकर्ता के इस सुझाव पर पालकमंत्री ने विचार करने नीति बनाने का आश्वासन िदया।

गार्डन और खुले मैदान में  लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
हनुमाननगर जोन में त्रिशताब्दी मैदान में युवक-युवतियों के जोड़ों का जमावड़ा रहने से स्थानीय नागरिकों को परेशानी हो रही है। वहां पुलिस का गश्त बढ़ाया जाए। इस पर पालकमंत्री ने कहा कि शहरभर के ऐसे मैदानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं। नासुप्र गार्डन के 60 और मैदान के िलए 60 करोड़ रुपए मिलने वाले हैं। इसमें 60 मैदान पर सीसीटीवी लगाए जाएं।