दैनिक भास्कर हिंदी: तेजस्वी-तेजप्रताप के बीच मतभेद वाले बयान पर मीसा की सफाई, बोलीं- मेरे बयान का गलत मतलब निकाला

October 8th, 2018

डिजिटल डेस्क, पटना। लंबे समय से इस बात को लेकर खबरें आती रही है कि राष्ट्रीय जनता दल (RJD) प्रमुख लालू यादव के बेटे तेज प्रताप और तेजस्वी के बीच मनमुटाव है। हालांकि हर बार इन बातों को दोनों तरफ से नकार दिया जाता रहा है। हाल ही में लालू यादव की बेटी मीसा भारती का बयान भी सामने आया था, जिसमें उन्होंने स्वीकार किया था कि तेज प्रताप और तेजस्वी के बीच मतभेद है। हालांकि सोमवार को उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है।

मीसा ने कहा, 'मेरे बयान को तोड़ा मरोड़ा गया है। मैनें पार्टी के कार्यकर्ताओं को एकजुट रहने और मतभेदों को भूलने के लिए कहा था, यह टिप्पणी हमारे परिवार पर नहीं थी। परिवार एक है, हमारे बीच कोई मतभेद नहीं हैं।

इससे पहले, मीसा मनेर में जब लिट्टी-चोखा पार्टी के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रही थी। तब उन्होंने कहा था, अगर आप सामने से लड़ेंगे तो हम झांसी की रानी की तरह लड़ लेंगे, लेकिन पीठ में खंजर मारेंगे तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चाहे वह पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता क्यों न हो। उन्होंने कहा, मनमुटाव किसके बीच में नहीं होता। हमारे हाथ की पांचों अंगुली भी बराबर नहीं होती। हमार परिवार में भाई-भाई में मनमुटाव है तो फिर राष्ट्रीय जनता दल तो बहुत बड़ा परिवार है।

इससे पहले जब दोनों भाईयों के बीच तकरार की खबरें आईं थीं तब तेजस्वी यादव के भाई तेजप्रताप यादव ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि तेजस्वी उनका अर्जुन है। वहीं सितंबर में राबड़ी देवी के घर पर जब RJD की बैठक हुई तब उसमें तेजप्रताप यादव शामिल नहीं हुए थे। जबकि बैठक के दौरान वो घर पर ही मौजूद थे। हालांकि तेजस्वी यादव ने इस पर सफाई देते हुए कहा था कि मथुरा से लौटने के बाद तेजप्रताप थके थे, इस वजह से वह पार्टी की बैठक में शामिल नहीं हुए।