दैनिक भास्कर हिंदी: डकैत बबुली गिरोह का साथी पुलिस के हत्थे चढ़ा, कट्टा कारतूस बरामद

August 17th, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े इनामी डकैत बबुली कोल गिरोह का कैजुअल मेम्बर मझगवां क्षेत्र के चंवरी जंगल में तब पुलिस के हत्थे चढ़ गया, जब वह साथियों के लिए रसद लेकर जा रहा था। डकैत के कब्जे से कट्टा कारतूस बरामद किए गए हैं। गिरफ्त में आया डकैत अपनी ससुराल में छिपा हुआ था।


315 बोर का कट्टा व दो जिंदा कारतूस बरामद
उक्त जानकारी देते हुए मझगवां थाना प्रभारी ओपी सिंह ने बताया कि विगत दिनों चित्रकूट के परासिन जंगल में यूपी पुलिस से मुठभेड़ के बाद बबुली गिरोह के सदस्य सुरक्षित ठिकानों की तलाश में अलग-अलग दिशाओं में भाग निकले थे। तभी से सुराग मिल रहे थे कि कुछ कैजुअल मेम्बर जिले में फरारी काट रहे हैं। इन सूचनाओं को देखते हुए मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर दिया गया। कई दिनों की कोशिशों के बाद शुक्रवार सुबह पता चला की एक संदिग्ध बदमाश चंवरी जंगल से मारकुंडी की तरफ जा रहा है,लिहाजा थाना प्रभारी ने अपनी टीम लेकर बताई गई जगह पर दबिश देकर घेराबंदी की लेकिन बदमाश झाडिय़ों की आड में छिपने की कोशिश की जिसे खदेड़ कर पकड़ लिया गया। उसकी तलाशी लेने पर 315 बोर का कट्टा व दो जिंदा कारतूस के अलावा गुटखा,तम्बाकू, आटा से भरा एक थैला भी हाथ लगा। पूछताछ में बदमाश ने अपना नाम खेम्मू उर्र्फ खेमराज कोल पुत्र गयादीन 45 वर्ष निवासी हरसेड़ थाना धारकुंडी बताया।


मुठभेड़ के बाद जान बचाकर भागा
वह उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिला अंतर्गत मारकुंडी थाना क्षेत्र के परासिन जंगल में 5 अगस्त को पुलिस से मुठभेड़ के दौरान गैंग के साथ था लेकिन जब गिरोह पुलिस से बचकर भागा तो वह भी छिपते-छिपाते अपनी ससुराल बधवा थाना कोठी आ गया। इस मुठभेड़ में गैंग के एक सदस्य की रायफल समेत भारी मात्रा में कारतूस व खाने-पीने का सामान छूट गया था। मुठभेड़ के समय गिरोह में गैंग लीडर बबुली कोल के अलावा डेढ़ लाख के इनामी लवलेश कोल समेत चार हार्डकोर सदस्य थे,पांचवा साथी खेम्मू था । पुलिस की हाथ लगी रायफल काका नामक डकैत इस्तेमाल करता था। खेम्मू ने एमपी-यूपी के सीमावर्ती क्षेत्र में बबुली गिरोह के कई मददगारों और कैजुअल मेम्बरों के नाम उजागर कर दिए हैं जिन्हें दबोचने के लिए पुलिस सक्रिय हो गई है। उधर यूपी पुलिस ने भी पकड़े गए बदमाश से पूछताछ की तैयारी शुरु कर दी है। 


दो साल से था संपर्क में
खेम्मू उर्फ खेमराज ने खुलासा किया कि लगभग दो साल पूर्व 6 लाख के इनामी डकैत बबुली कोल के रिश्तेदार लल्लू कोल निवासी सभापुर थाना क्षेत्र के माध्यम से वह गिरोह के संपर्क में आया था। तभी से खाने पीने की चीजे पहुंचाने लगा था। गैंग जब भी सतना की सीमा के आस-पास आता था तब वह रसद लेकर उनके पास चला जाता था। एक साल पूर्व लल्लू के पकड़े जाने के बाद से मिलना-जुलना बढ़ गया था।