दैनिक भास्कर हिंदी: निरुपम के 'संत-महंत प्रकोष्ठ' पर बीजेपी का हल्ला बोल

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारतीय जनता युवा मोर्चा (मुंबई) के अध्यक्ष मोहित कंबोज ने मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम द्वारा संत-महंत प्रकोष्ठ बनाने पर बुधवार को हमला बोला। कहा- "बीफ फेस्टिवल’ की पैरवी करने और मुंबई में "बीफ फेस्टिवल" आयोजित करने की बात करने वाले निरुपम किस आधार पर गौ माता को पूजने वाले संत-महंत समाज का प्रकोष्ठ बनाने की बात कर रहे हैं।

कंबोज ने पूछा, संजय निरुपम तो दो साल पहले (मई 2015 में) केंद्र सरकार के गोहत्या रोकने के प्रस्तावित प्रावधान के खिलाफ बीफ फेस्टिवल का आयोजन करना चाहते थे, जिसे भारी विरोध के कारण उन्हें रोक देना पड़ा था। अब वही निरुपम किस मुंह से साधु-संतों को अपनी पार्टी से जोड़ना चाहते हैं।

कंबोज ने कहा कि मुंबई में "बीफ फेस्टिवल’आयोजित करने की पैरवी करके निरुपम ने एक गंभीर पाप किया है। गाय हमारी माता है लिहाजा, निरुपम का यह पाप अगर वह माफी मांगे तब भी नहीं धुलेगा। ऐसे में अगर वह सोचते हैं कि संत समाज उन्हें माफ कर देगा तो यह उनकी भूल है। भाजयुमो अध्यक्ष ने कहा-निरुपम को पहले अपने मन का शुद्धिकरण करना चाहिए और "बीफ फेस्टिवल’ आयोजित करने का फैसला करने के अपने फैसले पर पश्चाताप करना चाहिए। उसके बाद उन्हें साधु समाज को जोड़ने के बारे में विचार करना चाहिए।

2015 में निरुपम की पहल पर हुआ था आयोजन

गौरतलब है कि गोमांस विरोधी कानून का विरोध करने के लिए मई 2015 में संजय निरुपम की पहल पर मुंबई कांग्रेस की ओर से "बीफ फेस्टिवल’ का आयोजन किया गया था। इसमें पांच हजार लोगों को सार्वजनिक तौर पर बीफ खिलाया जाना था। हालांकि निरुपम के फैसले का पार्टी के अंदर भारी विरोध हुआ और मुंबई कांग्रेस में विद्रोह की नौबत आ गई थी। इसके अलावा गैर राजनीतिक हलकों में भी "बीफ फेस्टिवल’ के भारी विरोध के बाद बीच में ही यह आयोजन रद्द कर दिया गया था।