दैनिक भास्कर हिंदी: इस दिवाली नागपुर से चलेंगी 52 अतिरिक्त बसें, पुणे के लिए सबसे अधिक बसें

October 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राज्य परिवहन महामंडल की ओर से इस दिवाली पूरे राज्य में 9 सौ से ज्यादा अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी। नागपुर विभाग में 52 बसें विभिन्न दिशाओं की ओर चलने वाली है। इसमें मुख्य रूप से पुणे के लिए ज्यादा संख्या में बसों का संचालन किया जाएगा। साथ ही भुसावल, छिंदवाड़ा, नांदेड़, अदिलाबाद, औरंगाबाद की ओर भी बसें चलेंगे।  ऐसे में दिवाली के वक्त यात्रियों के लिए यह बसें महत्वपूर्ण साबित होंगी। बड़े शहरों से छोटे गांव तक की राह बिना किसी दिक्कत एस टी बसें ही तय करती है। ऐसे में छोटे-छोटे गांवों से रोजगार की तलाश में नागपुर में आकर बसनेवाले लोगों के लिए साधन के नाम पर एस टी बसें ही एक अच्छा विकल्प है। वर्तमान स्थिति में नागपुर विभाग में 580 लाल बसों के अलावा 24 शिवशाही एसी बसें चलाई जाती हैं। जो यात्रियों की तुलना में पर्याप्त नहीं है। ऐसे में यात्रियों की संख्या बढ़ने पर बसों की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है। परिणामस्वरूप त्योहारों में अतिरिक्त बसों की सौगात राज्य परिवहन महामंडल की ओर से दी जाती है। इस वर्ष दिवाली के लिए राज्यभर में 9 सौ से अधिक बसें चलाई जा रही हैं जिसमें केवल नागपुर विभाग की बात करें तो 52 बसें अतिरिक्त तौर पर चलाई जानेवाली है। इसमें सबसे ज्यादा बसें पुणे के लिए चलाई जाएगी। यह बसें 25 अक्तूबर से 25 नवंबर के बीच चलनेवाली है। जिसका लाभ यात्रियों को अच्छे से मिल सकेगा।

पुणे के लिए जाने वाले यात्रियों की संख्या अधिक
नागपुर से पुणे व पुणे से नागपुर आने के लिए यात्रियों की भीड़ बहुत ज्यादा रहती है। उच्च शिक्षा हासिल करने के साथ कई नौकरी पेशा पुणे में जाकर बसें है। ऐसे में दीपावली को वह अपने परिवार के साथ रहने के लिए कुछ दिनों की छुट्‌टियां लेकर आते हैं। परिणामस्वरूप भीड़ बहुत ज्यादा बढ़ने से बसों में जगह नहीं मिलती है। वही ट्रेनें भी हाउसफुल रहती है। ऐसे में यात्रियों को मजबूरन निजी बस संचालकों के लूट का शिकार होना पड़ता है। ऐसे में राज्य परिवहन महामंडल की ओर से पुने के लिए ज्यादा बसें छोड़ने का निर्णय लिया है।

इस बार नहीं होगी स्ट्राइक
गत वर्ष ऐन दिवाली के एक दिन पहले जब यात्रियों की संख्या बहुत ज्यादा थी बस कंडेक्टर व चालक द्वारा वेतन वृध्दि को लेकर आंदोलन करने से बसें नहीं चल सकी थीं। ऐसे में यात्रियों को परेशानी के साथ मंडल का राजस्व भी घटना था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा, इसके लिए कर्मचारियों को पहले ही सूचना देने की जानकारी अधिकारियों ने दी है।

नागपुर विभाग की ओर से 50 से अधिक बसें अतिरिक्त तौर पर चलाये जानेवाली है। जिसमें पुणे के लिए ज्यादा बसें चलेगी। -(अशोक वरठे, विभाग नियंत्रक, एस टी परिवहन महामंडल)