दहेज लोभियों की करतूत: क्राइम ब्रांच का कर्मचारी बताकर मां-बेटी को बेरहमी से पीटा

August 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर । एक महिला और उसकी मां को ससुराल में पति, देवर और पति के दोस्त द्वारा बेरहमी से पिटाई किए जाने का मामला सामने आया है। बेदर्दी से पिटाई किए जाने के कारण महिला के शरीर पर जगह-जगह चोट के निशान बन गए हैं। महिला की मां की आंखों में खून जम गया है। करीब 5 माह पहले पीड़िता ने आरोपी रवि कैसल जोशी के साथ विवाह किया था। पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों ने पीड़िता के सारे गहने भी छीन लिए। इस मामले की शिकायत यशोधरानगर थाने में दर्ज कराई गई है। घटना 9 अगस्त की है।  

चरित्र पर किया शक
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 25 वर्षीय महिला का जोशीपुरा यशोधरानगर निवासी रवि कैसल जोशी के साथ 28 फरवरी 2021 को विवाह हुआ था। आरोपी और पीड़िता की यह दूसरी शादी है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसका पति रवि जोशी उसके चरित्र पर संदेह करता था। पीड़िता की विधवा मां ने कर्ज लेकर जैसे तैसे शादी की थी। शादी के दो माह बाद ही रवि ने विवाहिता को प्रताड़ित करने लगा। इससे परेशान होकर पीड़िता अपनी मां के घर चली गई। 9 अगस्त को पीड़िता को उसके देवर ललित ने फोन किया और घर में पूजा-पाठ होने के बहाने से बुलाया। पीड़िता मां के साथ ससुराल गई। ससुराल में पति का दोस्त मिश्रा भी आया था। मिश्रा ने पीड़िता को चरित्रहीन कहकर उससे गाली-गलौज की। कथित तौर पर मिश्रा ने खुद को क्राइम ब्रांच का कर्मचारी बताते हुए पीड़िता से मारपीट शुरू कर दी। उसकी मां ने बीच-बचाव किया तो उसके पति और देवर ने मां-बेटी से मारपीट की। 

पुलिस ने दिखाई गंभीरता
घायल अवस्था में मां बेटी यशोधरानगर थाने पहुंचे। पुलिस ने आरोपी रवि जोशी, ललित जोशी और मिश्रा पर धारा 323, 294, 506 (2), 504, 34 के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस उपायुक्त नीलोत्पल को इस बारे में पता चलने पर उन्होंने आरोपियों पर उक्त धारा के अलावा अन्य धाराएं भी लगाने का आदेश दिया है। पुलिस उपायुक्त नीलोत्पल ने बताया कि आरोपियों के बारे में ताबड़तोड़ कार्रवाई का आदेश दिया यगा है।  

अधिकारियों को लगाई फटकार 
घटना के बाद विधवा मां अपनी विवाहित बेटी को लेकर थाने पहुंची। मां-बेटी ने पिटाई की बात बताई। पुलिस ने आरोपियों पर मामला तो दर्ज कर लिया है। घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी पीड़ित महिला और उसकी मां पर अत्याचार करने वाले उसके पति रवि, देवर ललित और मिश्रा को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। पीड़ित महिला और उसकी मां ने पुलिस उपायुक्त नीलोत्पल से मिलकर उन्हें आपबीती सुनाई। उन्होंने इस मामले में यशोधरा नगर थाने के कुछ अधिकारियों को फटकारा और आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया है।