दैनिक भास्कर हिंदी: चिमनी से लगी पूरे घर में आग, मां और बेटी जिंदा जलीं

March 5th, 2018

डिजिटल डेस्क शहडोल । चिमनी से घर में लगी आग से मां और उसकी युवा बेटी जिंदा जल गईं। यह हृदयविदारक घटना सोहागपुर थानांतर्गत ग्राम बरुका में शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात को हुई। जानकारी के अनुसार 40 वर्षीय बुल्लू बैगा पति सतन व उसकी 22 वर्षीय पुत्री श्यामबाई पति अमृतलाल घर में सो रही थीं। उस कमरे में बिजली नहीं थी, इसलिए चिमनी जलाकर सो गईं। अचानक चिमनी गिरी और आग भड़क उठी। जब तक उनकी नींद खुलती बिस्तर व छप्पर में आग लग चुकी थी। बगल के कमरे में सो रहे बुल्लू का बेटा सूरज ने हो हल्ला के साथ धुआं निकलता देख बाहर निकला और मोहल्ले वालों को शोर मचाकर बताया। वह छप्पर में चढ़ा और ढाढ काटकर भीतर घुस कर अंदर से बंद दरवाजा को खोला। आग से लपटों से घिरी मां तथा बहन आंगन की ओर भागी। लेकिन बुरी तरह झुलस जाने के कारण ज्यादा दूर भाग नहीं पाईं। लोगों की मदद से घर में लगी आग बुझाने के साथ दोनों मां बेटी को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां दूसरे दिन आधे घंटे के अंतराल ेमें दोनों की मौत हो गई। सोहागपुर थाना प्रभारी टीआई राजेश मिश्रा ने बताया कि चिमनी की आग से घर में आग लगी। दोनों को बचने का मौका ही नहीं मिला।
मां को बचाते बेटी जली
मां के साथ आग में जली श्यामबाई विवाहिता है। वह मकर संक्रांति में मायके आई थी, तब से लेकर वह यहीं थी। खाना खाकर वह एक ही कमरे में सो रहे थे। तभी आग लगी। मां की साड़ी में आग लगा देख बेटी ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन वह भी चपेट में आ गई, और जान गवां बैठी।
शादी से मना करने पर  युवती ने की खुदकुशी
जिले के थाना पपौंध अंतर्गत ग्राम तिखवा में 19 वर्षीय युवती ने इसलिए आग लगाकर आत्मदाह कर लिया क्योंकि जिस लड़के से उसकी शादी तय हुई थी उसने विवाह करने से मना कर दिया। पुलिस ने आत्महत्या दुष्पे्ररण के आरोप में युवक को गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी एसआई सुभाष द्विवेदी ने बताया कि आरती कोल के साथ शादी करने से गोलू कोल ने मना कर दिया। जिससे क्षुब्ध होकर आरती ने शुक्रवार की दोपहर 12.30 बजे घर में मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगा लिया। जिससे उसकी मौत हो गई। साथ में घर भी जल गया। पिता मालई कोल की शिकायत पर गोलू पिता सियाराम कोल के विरुद्ध धारा  306 भादवि का अपराध कायम कर गिरफ्तार कर लिया गया है।