comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और उनकी पत्नी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज

समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और उनकी पत्नी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज

हाईलाइट

  • रिटर्निंग ऑफिस में जबरन घुसने के कारण दर्ज हुआ मामला
  • सिटी कोतवाली में सपा के प्रत्याशी के खिलाफ मामला दर्ज
  • पुलिस की मर्जी के बिना कलेक्टोरेट में नहीं घुस सकता कोई

डिजिटल डेस्क, सतना। एक दर्जन तांबे के कलशों में 10 हजार सिक्के लेकर नामांकन दाखिल करने आए मैहर विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी नारायण त्रिपाठी के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज होने के साथ ही कलेक्ट्रेट में सुरक्षा के कड़े प्रबंध कर दिए गए हैं। अब बिना पुलिस की मर्जी के एक परिंदा भी संयुक्त कलेक्ट्रेट में पर नहीं मार सकता है। जिले की सातों विधानसभाओं के रिटर्निंग ऑफिस की सुरक्षा 150 सुरक्षाकर्मियों के हवाले कर दी गई है। जबकि दूसरी ओर समाजवादी पार्टी की ओर से मैहर के लिए नामांकन भरने वाले पति-पत्नी रामनिवास उर्मलिया और ऊषा उर्मलिया के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का मामला पंजीबद्ध किया गया।


एक और प्रकरण पंजीबद्ध
5 नवम्बर को अपने 14 समर्थकों के साथ रिटर्निंग ऑफिस में जबरन घुसने के कारण अमरपाटन आरओ एवं एसडीएम हेमकरण धुर्वे की शिकायत पर सिटी कोतवाली में समाजवादी पार्टी के मैहर प्रत्याशी रामनिवास उर्मलिया एवं उनकी पत्नी ऊषा उर्मलिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है। चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना है।
 

आज का मौका
नाम निर्देशन पत्र भरने का आखिरी दिन 9 नवम्बर मुकर्रर किया गया है। संयुक्त कलेक्ट्रेट कार्यालय में बनाए गए विधानसभावार कक्षों में संबंधित क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफीसर केवल आज 11 बजे से लेकर अपरान्ह 3 बजे तक नामांकन हासिल करेंगे। नामांकन के लिए निक्षेप की राशि जमा करने और नामांकन प्रपत्र प्राप्त करने तथा मतदाता सूची देखने की व्यवस्था समाधान केन्द्र में की गई है। निर्वाचन की सूचना प्रारूप 1 में प्रकाशित की जाएगी तथा प्रपत्र 2 ख में एक अभ्यर्थी से अधिकतम चार नामांकन पत्र प्राप्त किए जा सकेंगे।
 

समर्थकों और पुलिस के बीच झूमा-झटकी
गुरुवार की दोपहर जब मप्र विधानसभा उपाध्यक्ष एवं अमरपाटन से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. राजेन्द्र कुमार सिंह नामांकन दाखिल करने कलेक्ट्रेट पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने उन्हें भूतल के गेट पर ही रोक लिया। दरअसल, श्री सिंह के साथ पहुंचे सैकड़ों समर्थकों को देखकर पुलिस के हाथ-पैर फूल गए। पुलिस ने पहले कांग्रेस प्रत्याशी को भीतर आने दिया इसके बाद प्रस्तावकों को भीतर बुलाया गया। श्री सिंह को गेट पर खड़ा कराए रखने पर समर्थक गुस्सा हो गए और नारेबाजी करने लगे।

कमेंट करें
BTwKX