दैनिक भास्कर हिंदी: कोर्ट परिसर के बाहर मचा हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

April 13th, 2018

डिजिटल डेस्क नरसिंहपुर । जिला अस्पताल में बुधवार को एक वकील के साथ की गई मारपीट के आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के दौरान कुछ तत्वों ने कोर्ट परिसर के बाहर  जमकर हंगामा किया जिसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस को जमकर लाठियां भांजनी पड़ी तब कहीं जाकर स्थिति नियंत्रित हुई। वहीं न्यायालय से घर वापस जा रहे एक अन्य वकील के साथ सहकारी बैंक के समीप उन्हीं तत्वों द्वारा मारपीट और मोटर साइकिल में तोडफ़ोड़ करने की घटना भी सामने आई है जिसे लेकर वकीलों में भारी रोष है।
इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार  जिला अस्पताल में उपचार कराने गए अधिवक्ता पुष्पेन्द्र बक्शी और उनके पुत्र के साथ किसी विवाद के चलते कुछ लोगों ने मारपीट कर दी थी। इस मामले में कोतवाली पुलिस ने अपराध दर्ज करते हुए आमिर कुरैशी, दुर्गेश पारौची सहित अन्य को आरोपी बनाया था।  को उन्हें न्यायालय में पेश किया जा रहा था, इसके पूर्व ही न्यायालय परिसर के बाहर जमा हुए आरोपियों के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया तथा पत्थरबाजी भी की जिसमें तीन-चार अधिवक्ताओं को चोटें भी आईं। घटना की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने समझाइश से मामला शांत करने का प्रयास किया, लेकिन उपद्रव करने वाले जब नहीं माने तो पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी।
एक अन्य वकील के साथ मारपीट
न्यायालय परिसर में हुए हंगामें के बाद पुलिस द्वारा खदेड़े गए लोग सुभाष पार्क चौराहे के समीप जमा हो गए। बताया गया है कि इन जमा लोगों ने न्यायालय से घर वापस जा रहे क अन्य अधिवक्ता नेपाल सिंह के साथ मारपीट की तथा उनकी मोटर साइकिल में तोडफ़ोड़ की। सूचना पर पहुंची पुलिस ने यहां की स्थिति को नियंत्रित किया। पथराव की आशंका को देखते हुए दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं।
अधिवक्ताओं में रोष, दिया धरना
अस्पताल में हुई घटना से आक्रोशित अधिवक्ताओं द्वारा न्यायालय परिसर के बाहर धरना दिया। उनका आरोप था कि इस मामले में पुलिस ने पर्याप्त कार्रवाई नहीं की। शिकायत को सही तरीके से दर्ज नहीं किया तथा कुछ आरोपियों को बचाया जा रहा है। इसके बाद हुई दूसरी घटना से उनका आक्रोश और बढ़ गया।
सौंपा ज्ञापन, वृहद आंदोलन की चेतावनी
अधिवक्ताओं के साथ हुई घटनाओं को लेकर जिला अधिवक्ता संघ ने जिला सत्र न्यायाधीश, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा है। पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा गया है कि जिला अस्पताल में अधिवक्ता के साथ वहां स्थित वाहन स्टैंड पर रहने वाले तत्वों ने मारपीट की। घटना संवेदनशील थी, लेकिन पुलिस ने इनमें लचर रवैया अपनाया। उन्होंने एडव्होकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू किए जाने तथा आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की तथा दूसरी घटना के आरोपियों को भी शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है अन्यथा की स्थिति में वृहद आंदोलन करने की चेतावनी दी है एवं वाहन स्टैंडों में बैठने वाले लोगों का पुलिस वैरीफिकेशन भी कराया जाए।
इनका कहना है
गुरुवार को हुए घटनाक्रम में किसी भी पक्ष के द्वारा अभी तक कोई शिकायत नहीं की गई है। यदि शिकायत होती है तो तथ्यों की जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
अभिषेक राजन एएसपी नरसिंहपुर