comScore

बजरंगी हत्याकांड मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ठुकराई CBI जांच की मांग

July 11th, 2018 12:28 IST
बजरंगी हत्याकांड मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ठुकराई CBI जांच की मांग

डिजिटल डेस्क, बागपत। बागपत जेल में सोमवार को यूपी के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने इस घटना को साजिश बताते हुए सीबीआई जांच कराए जाने की मांग की है। जिस पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच की मांग को खारिज कर दिया है। इस मामले की सुनवाई आज होना थी। मुन्ना बजरंगी का गंगा किनारे मणिकर्णिका घाट स्थित श्मशान पर अंतिम संस्कार किया गया। 13 वर्षीय बेटे आकाश वीर सिंह ने मुखाग्नि दी। बजरंगी का शव मंगलवार सुबह ही जौनपुर स्थित उसके पैतृक गांव पुरे दयालपुर लाया गया था। 

क्राइम ब्रांच व एसटीएफ के लोग सादे कपड़ों में अन्तिम यात्रा में शामिल रहे। बजरंगी का शव दोपहर लगभग 12 बजे गाड़ियों के लंबे काफिले के साथ जौनपुर से बनारस पहुंचा। अंतिम यात्रा में जौनपुर व दूसरे जिलों के कई चर्चित चेहरे शामिल थे। पुलिस ने ऐहतियातन पूरे घाट को छावनी में तब्दील कर दिया था। सीओ कैंट राकेश नायक, सीओ दशाश्वमेध स्नेहा तिवारी की अगुवाई में एक दर्जन थानों की फोर्स तैनात थी। क्राइम ब्रांच व एसटीएफ के लोग अन्तिम संस्कार पूरा होने तक घाट पर आने वाले एक-एक लोगों पर नजर रख रहे थे। 

सीबीआई जांच की मांग

मणिकर्णिका घाट पर अन्तिम संस्कार के दौरान मुन्ना बजरंगी के छोटे भाई राजेश सिंह ने मीडिया से बातचीत में अपने भाई की हत्या का आरोप एक केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा, एमएलसी बृजेश सिंह, विधायक सुशील सिंह, पूर्व सांसद धनंजय सिंह, रिटायर सीओ बीएन सिंह और उसके बेटे प्रदीप सिंह पर लगाया।

तस्वीर से नया खुलासा 

मुन्ना बजरंगी केस में एक तस्वीर से नया खुलासा हुआ है। इस तस्वीर में मुन्ना बजरंगी जमीन पर पड़ा है और उसके सीने के बीचो-बीच बनियान के ऊपर से गोली का निशान दिख रहा है। वहीं एक दूसरी तस्वीर में मुन्ना बजरंगी के शरीर से निकल रहा खून बिल्कुल ताजा लग रहा है। इससे साफ है कि यह तस्वीर गोली मारने के ठीक बाद ली गई। शरीर पर और फर्श पर पड़े खून बता रहा है कि किसी ने बाकायदा लाश के पास खड़े होकर यह तस्वीर खिंची है, वह भी गोलियां लगने के फौरन बाद में, पहली और दूसरी तस्वीर में खून के रंग में बदलाव दिख रहा है। दूसरी अहम बात यह है कि पहली तस्वीर में जहां मुन्ना बजरंगी के सीने में सिर्फ एक गोली का निशान दिख रहा है, वहीं दूसरी तस्वीर में गोली के तीन निशान दिख रहे हैं। इन दोनों तस्वीरों को देखने के बाद साफ लग रहा है कि पहली तस्वीर खींचने के बाद मुन्ना बजरंगी को कम से कम तीन गोलियां और मारी गईं।  

मुन्ना की पत्नी सीमा सिंह ने लगाए ये आरोप

मुन्ना की पत्नी सीमा सिंह ने आरोप लगाया है कि प्रशासन की मदद से मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या करवाई गई। इतना ही नहीं सीमा सिंह ने पुलिस की उस थ्‍योरी पर भी सवाल उठाया है जिसमें यह कहा जा रहा था कि मुन्‍ना बजरंगी के पास पिस्‍टल थी। सीमा ने जेल प्रशासन पर सवाल उठाते हुए कहा कि जेल में पिस्‍टल कैसे आई? इतना ही नहीं जेल के सीसीटीवी कैमरे खराब थे। सीमा ने कहा कि मुन्ना बजरंगी की सेहत ठीक नहीं थी, कोर्ट द्वारा नियुक्त डॉक्टर्स के पैनल ने उन्हें यात्रा करने से मना किया था। इसके बावजूद पुलिस ने साजिश के तहत पहले मुन्ना को फिट घोषित कराया और उसके बाद बागपत में दर्ज कराए गए फर्जी मामले की पेशी पर हाजिर करने के लिए बागपत जेल ले गए। जहां उनकी हत्या कर दी गई। 

 

कमेंट करें
r5X76