दैनिक भास्कर हिंदी: सिर्फ विपक्ष को एकजुट करने की है मेरी भूमिका - शरद पवार

April 24th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कभी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार को अपना राजनीतिक गुरु बताया था, लेकिन इस लोकसभा चुनाव में वे पवार पर जमकर हमले कर रहे हैं। वहीं, पवार भी पलटवार करने में पीछे नहीं हैं। राकांपा प्रमुख मोदी पर लोकसभा चुनाव में पाकिस्तान, सर्जिकल स्ट्राइक और सेना जैसे मसलों का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगा रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, संयुक्त विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी, ईवीएम पर विपक्ष के संदेश और रफाल सहित कई मुद्दों पर पवार से खास बातचीत की। 

- भाजपा कह रही है कि देश में अभी भी मोदी लहर कायम है। आप इस बारे में क्या सोचते हैं?

2014 के चुनाव में नरेंद्र मोदी ने विकास के नाम पर वोट मांगा था। गुजरात मॉडल आगे किया था। लेकिन सत्ता में आने के बाद उन्होंने क्या किया? पिछले दो वर्षों में 11998 किसानों ने आत्महत्या की है। बेरोजगारी तेजी से बढ़ी है। इस बार मोदी, पाकिस्तान और एयर फोर्स के जवान अभिनंदन के नाम पर वोट मांग रहे हैं। उन्होंने चुनाव को सांप्रदायिक बनाने का काम किया है।  

- कभी आप को अपना राजनीतिक गुरु बताने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार आप पर हमला शुरु कर दिया है, आखिर क्यों?

महाराष्ट्र में उनकी पहली चुनावी सभा वर्धा में थी। तभी से मैं उनके निशाने पर हूं। दरअसल, किसानों के मुद्दों पर मैंने उनकी आलोचना की है। मैं देश का कृषि मंत्री रहा हूं। आज किसानों की कितनी खराब हालत है, मैं जानता हूं। 

- देश की राजनीतिक परिस्थिति को देखकर ऐसी संभावना दिखाई दे रही है कि क्षेत्रीय दलों की स्थिति मजबूत हो सकती है। ऐसी स्थिति में आपकी भूमिका महत्वपूर्ण मानी जा रही है। आप इस बारे में क्या सोचते हैं? 

मेरी भूमिका सिर्फ विपक्ष को एकजुट करने की है। इसके अलावा मेरी कोई भूमिका नहीं हैं। मैं तो लोकसभा चुनाव भी नहीं लड़ रहा। इस बात को लेकर भाजपा मेरी आलोचना भी कर चुकी है।

- आप पर परिवारवाद को बढ़ावा देने के आरोप लगते हैं?

यदि कोई योग्य और जिताऊ उम्मीदवार है तो उसे टिकट क्यों नहीं मिलना चाहिए। ऐसे तो भाजपा ने भी कई नेताओं के परिजन को टिकट दिया है, क्या वह परिवारवाद नहीं है।