दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर एयरपोर्ट पर बढ़ा सुरक्षा बंदोबस्त, विस्फोटक किए जा सकेंगे डिस्पोज

March 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो (सीवीएएस) के मानकों को ध्यान में रखकर डॉ.बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल, नागपुर के विमानतल परिसर में हाल ही में कूलिंग पिट तैयार किया गया है। विस्फोटक सामग्री मिलने की स्थिति में उसे डिस्पोज करने के लिए कूलिंग पिट अत्यन्त आवश्यक होता है और विमानतल पर सीवीएएस ने उसकी कमी भी बताई थी, जिसके बाद से ही उसको लेकर मंथन चल रहा था।

इसलिए है ऐसी तैयारी
जानकारी के अनुसार, सुरक्षा मानकों को लेकर सीवीएएस ने नियम तय कर रखे हैं। इनके आलोक में समय-समय पर विभिन्न एजेंसियां विमानतल का निरीक्षण करती है और सुरक्षा विषयों को लेकर अपनी रिपोर्ट सीवीएएस को भेजती रहती है। इसके बाद विमानतल को उन खामियों को पूरा करने के लिए निर्देश दिए जाते हैं। नागपुर का विमानतल अंतरराष्ट्रीय विमानतल होने के साथ ही बेहद ही संवेदनशील है। नागपुर में संघ मुख्यालय के साथ ही हमेशा राजनीतिक गतिविधियां चलती रहती है और वीवीआईपी लोगों का आना-जाना लगता रहता है। वहीं, नागपुर से छत्तीसगढ़ और गड़चिरोली जैसे क्षेत्र सटे हुए हैं, जहां हमेशा ही नक्सली घटनाएं होती रहती है।  लोकसभा चुनाव के दौरान किसी भी विध्वंसक घटनाओं को रोकने व इन सारी शंका-कुशंकाओं से निपटने के लिए विमानतल तैयारियों में जुटा हुआ है।  इसी के तहत चारों तरफ पुख्ता बंदोबस्त के अलावा कूलिंग पिट भी लगाई गई है।

जानें, क्या है कूलिंग पिट
कूलिंग पिट का उपयोग विमानतल पर विस्फोटक सामग्री मिलने पर उसे वहां ले जाकर डिस्पोज करने के लिए किया जाता है। विमानतल पर यह इसलिए उपयोगी होती है क्योंकि यदि वहां कोई विस्फोटक सामग्री मिलती है तो उसे बाहर ले जाने पर जनजीवन को नुकसान हो सकता है। ऐसे में विमानतल के खुले हिस्से में इसे बनाया जाता है। इसमें विस्फोटक को नष्ट करने से किसी भी प्रकार का बाहरी नुकसान नहीं होता। विस्फोटक डिटेक्ट करने के लिए वहीं शेड भी बनाया जाता है, नागपुर में वह तैयार हो गया है।