comScore

नागपुर : भर्ती के इंतजार में घरों में पड़े हैं कोरोना मरीज

नागपुर : भर्ती के इंतजार में घरों में पड़े हैं कोरोना मरीज

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कोरोना मरीजों की सख्या इतनी तेजी से बढ़ी कि उपराजधानी के अस्पतालों में बेड खाली नहीं है। शहर के विभिन्न हिस्सों में मिले नए संक्रमित पिछले 24-24 घंटों से घर में ही पड़े हैं। मरीज डिस्चार्ज होंगे तो नए मरीजों के लिए अस्पताल में जगह मिलेगी। तब जाकर उन्हें भर्ती किया जाएगा। इससे मरीजों और उनके परिजनों में भारी आक्रोश है। संक्रमण की रोकथाम के दावों के बीच यह सूचना पूरी व्यवस्था की पोल खोलती है। 

चार अस्पताल हैं तय
मेडिकल अस्पताल, मेयो अस्पताल, एम्स और वोक्हार्ट (निजी अस्पताल) में कोरोना मरीजों का इलाज होता है। इन चारों अस्पतालों की क्षमता 1290 है। खास बात यह है कि 23 जुलाई को ही इन अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड फुल हो चुके थे। नए मरीजों को 24 जुलाई की रात तक जगह नहीं बन पाई थी। तब तक 222 नए मरीज और सामने आ गए।  23 जुलाई की रात पॉजिटिव पाए गए करीब 20 रोगियों को अस्पताल उपलब्ध नहीं हो पाया था। मरीज व उनके परिजन लगातार मनपा से गुहार लगा रहे हैं। उन्हें भय सता रहा है कि मरीज को घर में रखना खतरे से खाली नहीं है। पर मनपाकर्मी भी मजबूर हैं। मनपा की टीम घरवालों को जल्दी ही अस्पताल ले जाने का भरोसा भर दे पा रहे हैं। 

भर्ती करने की गुहार काम न आई
आज अस्पताल में भर्ती कराने का दिया भरोसा भाजपा के राजेश कन्हेरे व समाजसेवी गुड्डू जैस्वाल ने कहा कि गांधी पुतला इतवारी के व्यापारी की कोरोना रिपार्ट 23 जुलाई की रात पॉजिटिव आई।  रोगी को भर्ती करने की गुहार लगाई जा रही है, लेकिन मेयो, मेडिकल, एम्स व वोक्हार्ट में जगह नहीं होने का हवाला देकर घर में ही मरीज को रखने की सलाह दे दी गई है। काफी मिन्नत के बाद मनपा की टीम पहुंची और शनिवार को अस्पताल में भर्ती करने का भराेसा देकर चली गई। 

संक्रमित 11 दमकलकर्मियों को घर भेजा
दमकल विभाग (फायर ब्रिगेड) के 11 आैर कर्मचारी संक्रमित पाए गए। अस्पताल में बेड उपलब्ध नहीं होने से इन सभी कर्मचारियों को एक दिन घर में ही रहने को कहा गया है। अभी तक दमकल विभाग के 81 कर्मचारियों की जांच हो चुकी है। 3 कर्मचारी पहले ही पॉजिटिव मिल चुके हैं। कुल संक्रमितों की संख्या 14 हो गई है।  79 कर्मचारियों की अभी जांच होनी बाकी है। 

पर्याप्त बेड नहीं हैं उपलब्ध 
नए संक्रमितों के लिए अस्पतालों में पर्याप्त बेड उपलब्ध नहीं हैं। जैसे-जैसे बेड खाली हो रहे हैं, रोगियों को भर्ती किया जा रहा है। गांधीबाग जोन के 7 में से 4 रोगियों को शुक्रवार शाम तक भर्ती करने की व्यवस्था हुई। शेष रोगियों की व्यवस्था शनिवार तक हो जाएगी।
-डॉ. एम. ख्वाजा, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी, मनपा, नागपुर. 

जरूरी कदम उठाए जाएंगे
नागपुर में कोरोना को लेकर लगातार समीक्षा हो रही है। मरीजों को अस्पतालों में जगह नहीं मिलने की फिलहाल जानकारी नहीं मिली है। प्रशासन से जानकारी लेकर जरूरी कदम उठाए जाएंगे। मनपा को कोविड के 5 सेंटर शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। 
-डॉ. नितीन राऊत, पालकमंत्री, नागपुर. 

पर्याप्त बेड नहीं हैं उपलब्ध 
नए संक्रमितों के लिए अस्पतालों में पर्याप्त बेड उपलब्ध नहीं हैं। जैसे-जैसे बेड खाली हो रहे हैं, रोगियों को भर्ती किया जा रहा है। गांधीबाग जोन के 7 में से 4 रोगियों को शुक्रवार शाम तक भर्ती करने की व्यवस्था हुई। शेष रोगियों की व्यवस्था शनिवार तक हो जाएगी।
-डॉ. एम. ख्वाजा, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी, मनपा, नागपुर. 

कमेंट करें
v71VB