दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : डकैती , लूटपाट सहित नागपुर में क्राइम की भरमार, जानिए प्रमुख वारदातें

April 29th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  नागपुर शहर में डकैती के प्रयास, लूटपाट सहित क्राइम की खबरें कम होने का नाम नहीं ले रही है। कलमना क्षेत्र में पुलिस के गश्तीदल ने अपराधियों के एक गिरोह के 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। यह सभी आरोपी किसी जगह पर डकैती डालने की फिराक में थे। पुलिस ने उनकी इस उम्मीद पर उन्हें गिरफ्तार करके पानी फेर दिया। आरोपियों से घातक शस्त्र व मिर्ची पाउडर जब्त किया गया है। पुलिस ने 27-28 अप्रैल की दरमियानी रात करीब 12.15 बजे कार्रवाई की। पुलिस सूत्रों के अनुसार कलमना थाने के हवलदार देवांगन सहयोगियों के साथ 28 अप्रैल को रात में गश्त कर रहे थे। इस दौरान गुप्त सूचना मिली कि कुछ लोग चिखली ले-आउट बीएसएनएल कार्यालय की दीवार के पास बैठे हैं। वह किसी वारदात की तैयारी में हैं।

 पुलिस दस्ते ने घटनास्थल पर पहुंचकर घेराबंदी डालकर  पिंटू लखन सेलोकर (32), नोहर छगनलाल वर्मा (40), नरेश चिंताराम शाहू (35 ), संजू पंचाराम पटेल (21)  डिप्टी सिंग्नल, नागपुर  और छगनलाल डहारिया (35) मिनीमाता नगर, नागपुर निवासी को गिरफ्तार किया। इसमें आरोपी पिंटू पर 8, संजू पर 4 व अन्य आरोपियों पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने इन आरोपियों से तलवार, मिर्ची पाउडर, रॉड, नायलॉन  रस्सी सहित करीब 400 रुपए का माल जब्त किया है।  इन आरोपियों पर कलमना थाने के महिला पुलिस उपनिरीक्षक खोब्रागडे ने धारा 399, 402  व सहधारा 4, 25 आर्म एक्ट, 135 के तहत मामला दर्ज किया है

शिक्षक को लूटने वाले 4 गिरफ्तार
हुड़केश्वर इलाके में एक शिक्षक को लूटने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के नाम अक्षय रवि लवसरे (25)  अमर नगर हुड़केश्वर, हर्षल दिलीपराव ढाले (24) लाडीकर ले-आउट, आदित्य गजानन भोंडवे (20) और स्वप्निल उर्फ रानी सारंग बोरकर (20) सोमवारी क्वार्टर, सक्करदरा निवासी है। शिक्षक संजय तिवारी से उसके परिचित अक्षय लवसरे  ने 200 रुपए मांगे थे। संजय तिवारी अयोध्यानगर निवासी यह रकम उसे देने के लिए म्हालगीनगर चौक में गया था। अक्षय ने उससे पैसे लेने के बजाय उसे जबलपुर-हैदराबाद हाईवे पर ले जाकर दोस्तों के साथ मिलकर लूटपाट की। आरोपी अक्षय ही घटना का सूत्रधार था, लेकिन उसने संजय के सामने अंजान बनने की कोशिश की। अंतत: पुलिस ने सबसे पहले अक्षय को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार आरोपी अक्षय की करतूत पर संजय तिवारी को शक न हो इसलिए अक्षय के साथियों ने उसका 1500 रुपए का मोबाइल फोन छीन लिया, जिसे बाद में अक्षय ने वापस ले लिया। आरोपियों ने घटना के दिन संजय तिवारी से 90 हजार रुपए की सोने की चेन, 45 हजार रुपए की सोने की माला, 75 हजार रुपए का ब्रासलेट, 1 लाख की सोने व हीरे जड़ित अंगूठी सहित 3 लाख 26 हजार रुपए का माल लूटकर फरार हो गए थे, इसमें अक्षय का 1500 रुपए का मोबाइल फोन भी शामिल था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद उनसे लूटपाट का माल के अलावा 90 हजार रुपए की दो दोपहिया वाहन सहित करीब 3 लाख 65 हजार रुपए का माल जब्त किया। पकड़े गए उक्त आरोपियों पर हुड़केश्वर थाने में मामला दर्ज किया गया है। क्षेत्र के उपायुक्त डा. अक्षय शिंदे के मार्गदर्शन में हुड़केश्वर पुलिस ने कार्रवाई की।

लकी चिकन सेंटर सील, 23 प्रतिष्ठानों पर जुर्माना
मनपा के एनडीएस दल ने 23 प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई कर 2 लाख 10 हजार रुपए जुर्माना वसूल किया। एक चिकन सेंटर सील किया गया। एनडीएस के जवानों ने 49 प्रतिष्ठानों की जांच की। जांच दौरान कोविड के नियमों का पालन नहीं करने वाले प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की गई। उदय नगर चौक में लकी चिकन सेंटर सील किया गया। प्रशांत नगर अजनी स्थित अभिजीत ग्रुप प्राइवेट लिमिटेड पर 25 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। सतरंजीपुरा जोन में इतवारी बाजीराव गली के साईंनाथ एनएक्स के संचालक से भी 25 हजार रुपए जुर्मना वसूल किया गया। गुरुकुल वृंदावन रेस्टारेंट, गोकुलपेठ पर 10 हजार, राहुल सिरमिक टाइल्स, गांधीबाग पर 15 हजार रुपए व अन्य प्रतिष्ठानों पर 5 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। इसके बावजूद नियमों का पालन नहीं करने पर अधिक जुर्माना लगाने के साथ ही सील लगाने की ताकीद दी गई।

दो बदमाशों को जेल भेजा
दो कुख्यात बदमाशों को शहर से बाहर भेजा गया। एमडीए कानून के तहत एक को औरंगाबाद तथा दूसरे को पुणे की येरवड़ा जेल में भेजा गया है। आरोपी मयूर उर्फ सन्नी धीरज समुंद्रे, सुदर्शन नगर निवासी है। उस पर हत्या का प्रयास, चोरी, डकैती आदि 12 अापराधिक प्रकरण विविध थानों में दर्ज हैं। कई बार उसके खिलाफ प्रतिबंधक कार्रवाई हुई है। बावजूद उसकी गतिविधियों में कोई सुधार नहीं हुआ। जिससे से पुणे की येरवड़ा जेल में भेजा गया है, जबकि कुख्यात बदमाश जितेंद्र उर्फ जीतू रामभाऊ समुंद्रे को औरंगाबाद की जेल में भेजा गया है। उसके खिलाफ भी 14 अापराधिक प्रकरण दर्ज हैं। 

जख्मी मतिमंद युवक की मौत
जख्मी युवक की मंगलवार की रात उपचार के दौरान मौत हो गई। वह मतिमंद था। उसने घर में आग लगा ली थी, जिससे वह बुरी तरह से झुलस गया था। पांचपावली थाने में आकस्मिक मृत्यु का प्रकरण दर्ज किया गया है। टेका आजाद नगर निवासी सोहेल सिद्धिकी (24) था। वह मतिमंद था। उसका उपचार जारी था। इस बीच 23 अप्रैल की रात साढ़े नौ बजे सोहेल ने घर में आग लगा ली थी। परिवार के सदस्यों ने आग को जल्दी काबू में किया, लेकिन घर का अन्य सामान इसमें जल गया है। चपेट में आने से सोहेल भी बुरी तरह से झुलस गया था। गंभीर हालत में उसे मेयो अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहा पर मंगलवार की रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।


 

खबरें और भी हैं...