दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर के डॉक्टर ने इलाज के नाम पर रायपुर में की धोखाधड़ी

February 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  रायपुर की सेवानिवृत्त शिक्षिका शीतला सिंह के साथ इलाज के नाम पर दो आरोपियों ने 3 लाख रुपए का चूना लगा दिया। शीतला सिंह की शिकायत पर रायपुर स्थित सरस्वतीनगर थाने में आरोपी डॉ. रहमान  और राहुल अग्रवाल के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। बताया जाता है कि रहमान खुद को मोमिनपुरा पुलिस चौकी के पास का निवासी बताया है। आरोपी करीब डेढ़ माह पहले शीतला सिंह के साथ ठगी कर फरार हो गए। पीड़िता का बेटा फौज में कर्नल है, जो पंजाब में पदस्थ है। 

परेशानी देख राहुल नाम के युवक ने मिलाया था नागपुर के डॉक्टर से : रायपुर पुलिस सूत्रों के अनुसार,    9 दिसंबर को शीतला सिंह कोटा (रायपुर) स्थित मकान के एक कर्मी महेंद्र सिंह राठोर के साथ दवा लेने के लिए रायपुर के कोतवाली थाने के  पास मेडिकल की दुकान में गई थीं। उन्हें 12 साल से घुटने के दर्द की शिकायत है। पीड़िता ने महेंद्र सिंह को एक व्यक्ति से बातचीत करते देखा। उन्होंने महेंद्र से पूछा। महेंद्र ने कहा कि यह राहुल अग्रवाल है। यह कोटा का रहनेवाला है। पीड़िता ने राहुल अग्रवाल से बातचीत करते हुए घुटने के दर्द के बारे में बताया। राहुल ने उनसे कहा कि उसकी मां को यही समस्या थी। नागपुर के मोमिनपुरा के डॉ. रहमान ने उसकी मां का इलाज किया तो वह ठीक हो गईं। 

मांगी थी नकद रकम : उसने दोबारा दिक्कत नहीं होने के लिए 2.45 लाख रुपए फीस बताई। फीस कम करने के लिए बोलने पर उसने 2.20 लाख रुपए कर दिया। उसने नकद रकम मांगी। उसे 2 लाख रुपए दे दिए गए। 20 हजार रुपए एटीएम से निकालकर दिया। साथ ही, डॉ. रहमान ने दवा लिखी, जो करीब 75 हजार रुपए की थी। यह दवा भी डॉ. रहमान ने ही दिए।  जब पीड़िता को उस दवा से कोई आराम नहीं लगा तो डॉ. रहमान से बात की। डॉ. रहमान ने दोबारा रायपुर आकर दवा बदलकर देने की बात की। इसके बाद डॉ. रहमान और राहुल अग्रवाल ने फोन बंद कर लिया। पीड़िता ने परेशान होकर सरस्वतीनगर थाने में शिकायत की। पुलिस इन दोनों आरोपियों की तलाश में जुटी है।  

बीमारी से परेशान वृद्धा आ गईं झांसे में  राहुल ने डॉ. रहमान को रायपुर बुलाने की बात की। आरोपी राहुल के झांसे में पीड़िता आ गई। महेंद्र को  राहुल ने डॉक्टर का नंबर दिया। डॉ. रहमान ने पीड़िता को फोन किया। 11 दिसंबर को डॉ. रहमान रायपुर पहुंच गया। महेंद्र ने डॉ. रहमान को पीड़िता के घर लेकर गया। उसने पीड़िता के दोनों घुटनों का इलाज करने की बात की। 2200 रुपए खर्च होने की बात की। पीड़िता ने पैसे देने की बात की तो डॉ. रहमान ने एक चिलमनुमा पाइप लगाकर मुंह से खींचकर पस (मवाद) निकालने लगा। कई बार उसने इस प्रक्रिया को पूरा किया। डॉ. रहमान ने कहा कि पूरा पस निकल गया।