comScore

मित्र ने ही युवक का सिर कुचल मार डाला

मित्र ने ही युवक का सिर कुचल मार डाला

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जरीपटका क्षेत्र के डाॅ. बाबासाहब आंबेडकर अस्पताल के पीछे एक युवक ने अपने मित्र  की हत्या कर दी। मृतक का नाम सागर उर्फ बंटी उर्फ गुलाम वासुदेव जाधव (40) है। हत्यारोपी जीतू उर्फ जितेंद्र  अनिल पाटील ने लकड़गंज थाने में समर्पण कर दिया। इसके बाद उसे जरीपटका पुलिस को सौंप दिया गया। आरोपी को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, जीतू को सागर जाधव बार- बार पुलिस का मुखबिर कहकर चिढ़ाया करता था। यह दोनों पहले गहरे दोस्त थे। दोनों के बीच में कुछ समय पहले दुश्मनी बढ़ गई थी। बुधवार की रात में मौका पाकर आरोपी ने सागर को मौत के घाट उतार दिया। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार, बुधवार की रात नागपुर- कामठी रोड पर बुधवार की रात करीब 10.30 बजे डा बाबासाहब आंबेडकर अस्पताल के पीछे जितेंद्र पाटील ने सागर जाधव की हत्या कर दी। जरीपटका पुलिस को रात करीब 11.30 बजे घटना की जानकारी मिली। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर शव का पंचनामा किया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्या का प्रकरण दर्ज किया गया।  जरीपटका पुलिस ने बुधवार की रात करीब 12 बजे आरोपी जितेंद्र पाटील को सागर जाधव की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया। सागर पर हत्या का आरोप था तथा पांचपावली थाना क्षेत्र से तड़ीपार  भी किया गया था। सागर  कुछ दिनों पूर्व ही जेल से छूटकर बाहर आया था। सूत्रों ने बताया कि उसकी पहचान जितेंद्र पाटील से हो गई थी। जितेंद्र और सागर करीब दोस्त बन गए थे। लेकिन सागर अपने दोस्त जितेंद्र को पुलिस का फंटर कहकर चिढाया करता था। यह बात उसे बुरी लगती थी। बुधवार की रात यह दोनों डा बाबासाहब आंबेडकर अस्पताल के पीछे बातचीत करते बैठे थे। दोनों ने जमकर शराब पी। नशा चढ़ने पर सागर ने जितेंद्र को फिर से किसी बात काे लेकर चिढ़ाने लगा। इस बात से क्रोधित होकर जितेंद्र ने सागर के सिर पर पत्त्थर दे मारा, जिससे उसकी मौत हो गई। उसके बाद उसकी हत्या कर फरार हो गया। रात में जरीपटका पुलिस को घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर शव को शासकीय अस्पताल भेज दिया। पुलिस ने इस प्रकरण में आरोपी जितेंद्र पाटील को गिरफ्तार कर लिया है।   

पहले एक साथ बैठकर शराब पी, फिर ले ली जान 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, जितेंद्र पाटील करीब 6 माह पहले ही सागर की हत्या करने की फिराक में था, लेकिन वह उसे मिल नहीं रहा था। बुधवार को वह सागर को इंदोरा चौक में देखा। उसे पुरानी दुश्मनी खत्म करने के बहाने बुलाकर अस्पताल के पीछे ले गया। आरोपी और सागर ने एक साथ बैठकर शराब पी। इस दौरान दोनों के बीच अनबन होने पर आरोपी ने करीब 5 किलो का पत्थर उठाकर सागर के सिर पर मारा। सागर के घर का पता पुलिस लगा रही है।  

कमेंट करें
i4qNL