दैनिक भास्कर हिंदी: होटल की जमीन को लेकर मित्र की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

December 18th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पांचपावली क्षेत्र में एक प्रॉपर्टी डीलर की हत्या कर दी गई।  मृतक गणेशपेठ निवासी महेश उर्फ गुड्डू दुर्गाप्रसाद तिवारी (47) है। पुलिस ने हत्या के आरोप में गुड्डू के दोस्त विवेक उर्फ अभिनव गोड़बोले (37), सुगत नगर और मोहसीन उर्फ कल्लू उर्फ पिंटू किलेदार (36), महेंद्र नगर निवासी को गिरफ्तार किया है। फरार आरोपी निलेश पिल्लेवान, लष्करी बाग और नोहसिन खान (25) नामक महिला की तलाश की जा रही है। घटना पांचपावली थाना क्षेत्र में हुई। आरोपियों ने घातक शस्त्र और बियर की बोतल से हमला कर उसे मौत के घाट उतारा। बताया जाता है कि, रामटेके नगर मौजा बाबुलखेड़ा में एक प्रॉपर्टी को लेकर घटना को अंजाम दिया गया। 

शरीर पर किए 17 वार
सूत्रों के अनुसार गुरुवार को सुबह गुड्डू के घर के पास करीब 9.30 बजे एक कार आई। कार में एक महिला, पिंटू और अभिनव बैठे थे। गुड्डू उनके साथ कार में चला गया। पश्चात अभिनव अपने दोस्त पिंटू किल्लेदार को अपने साथ लिया। तीनों कमाल चौक के शनिचरा बाजार में स्थित सोनू के चकना सेंटर पहुंचे। शराब खरीदी और सोनू की दुकान में शराब पीने बैठे। करीब 3 घंटे तक शराब पी। गुड्डू शराब के नशे में धुत हो गया है, तब अभिनव और पिंटू ने उस पर घातक शस्त्र और बियर की बोतल से हमला कर दिया। गुड्डू के शरीर पर करीब 17 वार किए गए।  घटनास्थल पर ही गुड्डू की मौत हो गई। 

अभिनव के खिलाफ पहले भी एक हत्या का मामला है दर्ज
सूचना मिलते ही पांचपावली के थानेदार किशोर नगराले मौके पर पहुंचे। गुड्डू को मेयो अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। घटनास्थल का डीआईजी नवीनचंद्र रेड्डी और डीसीपी लोहित मतानी ने जायजा लिया। पूछताछ में अभिनव ने प्रॉपर्टी का विवाद बताया है। अभिनव के खिलाफ पहले भी एक हत्या का मामला दर्ज है। मंगलवारी क्षेत्र के 1 बार में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी पिंटू भी 13 वर्ष पहले जलसा बार में हुई हत्या के मामले में आरोपी था। वह आरोप से बरी हो चुका है।  

मेयो अस्पताल पहुंचे समर्थक
गुड्डू की हत्या की जानकारी मिलते ही परिजन, रिश्तेदार, दोस्त और समर्थक पहुंचे। घटना को लेकर काफी रोष रहा। परिजनों का आरोप है कि आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से घटना को अंजाम दिया है। घटना में और आरोपियों के समावेश होने की आशंका है। प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग परिजनों की है।

यह है मामला
गुड्डू और आरोपी विवेक की करीब 12 साल से दोस्ती थी। दोस्ती की आड़ में आरोपी विवेक ने अपने साथी पिंटू के साथ मिलकर गुड्डू का खात्मा किया। गुड्डू के भाई सुरेश तिवारी जिला न्यायालय में पार्किंग स्टैंड चलाते हैं। बताया जाता है कि रामटेकेनगर बेलतरोडी रोड पर रुद्र बार के पास गुड्डू और अभिनव ने 5,000 वर्ग फुट का प्लॉट खरीदा था। इस प्लाट में 3,000 वर्ग फुट प्लॉट की रजिस्ट्री  गुड्डू ने कराकर उसे खरीद लिया था, जबकि बचे 2,000 वर्गफुट का सौदा अभिनव द्वारा किया गया था।  इस जगह पर गुड्डू ने बोनफायर नामक एक रेस्टारेंट व ढाबा भी शुरू किया था। अभिनव को लग रहा था कि, उसकी जमीन का उपयोग गुड्डू अकेले ही कर रहा है। गुड्डू का होटल ठीक-ठाक चलने लगा था। गुड्डू के परिजनों की मानें तो अभिनव की गुड्डू के होटल पर नीयत थी।