नागपुर: तीन आपराधिक गिरोह पर मकोका

January 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  तीन आपराधिक गिरोह पर पुलिस आयुक्त ने शिकंजा कसा है। कुख्यात आबू, चंगीराम और आत्राम गिरोह पर एक साथ मकोका के तहत कार्रवाई की गई है। तीनों गिरोह के सदस्यों के खिलाफ विविध थानों में गंभीर प्रकरण दर्ज हैं। इसमें से चंगीराम गिरोह अंतरराज्यीय स्तर पर सक्रिय है।

आबू गिरोह : कई संपत्तियों पर किया कब्जा
आपराधिक गिरोह का मुखिया आरोपी आबू उर्फ फिरोज अजीज खान, बड़ा ताजबाग निवासी ने अपने गिरोह के सदस्य उसी के भाई शहजाद खान, अमजद खान और इग्गा खान की मदद से परिसर में कई लोगों की चल-अचल संपत्ति कब्जा ली है। कुछ माह पहले आबू और उसके गिरोह के खिलाफ दूसरे की संपत्ति पर जबरन कब्जा करने तथा वसूली करने के सिलसिलेवार तीन से चार प्रकरण दर्ज हुए थे। इसके अलावा मादक पदार्थों की बिक्री में भी गिरोह शामिल रहा है। परिसर में गिरोह की इतनी दहशत रही है कि, लोग उनके खिलाफ शिकायत करने से भी कतराते थे। इसे गंभीरता से लेकर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने जनता दरबार में लोगों से वादा किया था कि, वे अाबू के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई करेंगे कि, उसकी सात पुश्तें याद रखेंगी। 

आत्राम गिरोह : जाली दस्तावेज बनाकर बेचे प्लॉट
दूसरा गिरोह चंद्रशेखर पंजाबराव आत्राम, दाभा, वाड़ी वर्तमान में उत्तरप्रदेश के नोएडा का निवासी है। चंद्रशेखर और उसके सदस्य राजेश कमलेश गुहा, पंकज कृपाशंकर दुबे, श्रीकांत उर्फ अभिमन्यु सिंह, नीलकंठ सूर्यवंशी, पिंकू, लोकप्रिय साखरे और मनु प्रतापन है। यह गिरोह जाली दस्तावेज बनाने में माहिर है। जाली दस्तावेजों की मदद से इस गिरोह के सदस्यों ने भी कई लोगों की संपत्ति हथिया ली है। इतना ही नहीं, एक प्लॉट, एक से ज्यादा लोगों को बेचकर कई लोगों को लाखों का चूना लगाया है। कार्रवाई से बचने के लिए गिरोह का मुखिया नाेएडा भाग गया है। इस गिरोह के खिलाफ भी मकोका की कार्रवाई की गई है। 

चंगीराम गिरोह : चोरी, डकैती और लूटपाट में माहिर 
तीसरा गिरोह चंगीराम उर्फ चंगी शंकर गुसई (55), उसका पुत्र गुरु उर्फ आकाश उर्फ गुज्जर उर्फ मंग्या चंगीराम गोसावी (21), दोनों रायसेन, मध्य प्रदेश, संदेश रोकड़े (51), चक्की खापा, प्रवीण परसराम कोन्होले (49), सचिन जगने (36), नागलवाड़ी, हरि श्रीराम आसोले (45),  म्हाड़ा क्वॉर्टर, कपिल नगर निवासी है। यह  गिरोह अंतरराज्यीय स्तर पर चोरी, डकैती और लूटपाट की वारदातों को अंजाम दे चुका है। इसके लिए गिरोह  के स्थानीय सदस्य संदेश, हरि और प्रवीण गिरोह की मदद करते थे। गत दिनों इस गिरोह ने वाड़ी और बेलतरोड़ी थाना क्षेत्र में परिवार के सदस्यों को बंधक बनाकर लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दिया था। इस गिरोह के खिलाफ भी मकोका के तहत शिकंजा कसा गया है। 

गिरोह के सदस्यों की संपत्ति हो सकती है सील
कार्रवाई से गिरोह के सदस्यों की संपत्ति भी सील होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। एक साथ तीन-तीन गिरोह पर हुई कार्रवाई से अन्य आपराधिक तत्वों में हड़कंप मचा हुआ है।