दैनिक भास्कर हिंदी: यूजीसी देगा बुद्धिस्ट स्टडीज को बढ़ावा

March 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) अब देश में बुद्धिस्ट स्टडी, पाली भाषा व बुद्धिस्ट टूरिज्म को बढ़ावा देने जा रहा है। इसके लिए राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय समेत देशभर के शिक्षा संस्थानों को अपना योगदान देने के निर्देश दिए गए हैं। यूजीसी ने नागपुर विवि समेत अन्य शिक्षा संस्थानों से उनके यहां संचालित बुद्धिस्ट स्टडी से संबंधित कोर्स, बुद्धिस्ट स्कॉलर्स, विद्यार्थियों, सालभर में आयोजित विविध कार्यक्रमों का संपूर्ण ब्योरा मांगा है, ताकि इसका एक विस्तृत डेटाबेस तैयार किया जा सके। उल्लेखनीय है कि, नागपुर विश्वविद्यालय देश में बुद्धिस्ट स्टडीज का एक प्रमुख केंद्र है। यहां बुद्धिस्ट स्टडीज, पाली-प्राकृत में एमए ही नहीं, एम.फिल-पीएचडी तक की सुविधा है। वहीं नागपुर विवि का बुद्धिस्ट स्टडी सेंटर की योजना पर भी काम चल रहा है। विवि का स्वयं का ट्रैवल एंड टूरिज्म विभाग भी है।

यूनिवर्सिटी को मिल सकता है अहम प्रोजेक्ट
ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि, यूजीसी नागपुर विवि को इस दिशा में कोई अहम प्रोजेक्ट सौंप सकता है। दरअसल, बीते कुछ समय से केंद्र सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है। भारत को बुद्धिज्म ज्ञान व टूरिज्म के ग्लोबल केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि, श्रीलंका, कंबोड़िया, थाईलैंड, कोरिया और चीन जैसे देशों मंे बुद्धिस्ट टूरिज्म के स्कोप को देखते हुए भारत में भी इस क्षेत्र में व्यापक काम करने की योजना बनाई जा रही है। इसमें अब नागपुर विवि समेत अन्य शिक्षा संस्थान भी अपना योगदान देने जा रहे हैं।