दैनिक भास्कर हिंदी: सांस्कृतिक कार्यक्रम में मनपा ने खर्च कर डाले 200 करोड़

April 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर महानगर पालिका लगातार आर्थिक तंगी से जूझ रही है। जरूरी योजनाओं को पूरा करने के लिए सरकार के आगे हाथ फैलाती रही है, इसके बावजूद दो साल में क्रीड़ा व सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर मनपा 200 करोड़ से ज्यादा खर्च कर चुकी है। इसका खुलासा आरटीआई में हुआ है। 

विभिन्न दिवस मनाए गए
सूचना अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार मनपा के क्रीड़ा व सांस्कृतिक विभाग ने दो साल में 130 से ज्यादा भव्य, दिव्य सांस्कृतिक, क्रीड़ा व सामाजिक कार्यक्रम किए हैं। 2016-17 में 55 व 2017-18 में 80 कार्यक्रम लिए गए। इसमें महापौर चषक स्पर्धा समेत महापुरुषों की जयंती, शिक्षक दिवस व बालक दिवस पर होनेवाले कार्यक्रम भी शामिल हैं। मनपा विविध अवसरों पर सामाजिक, सांस्कृतिक व खेलकूद संबंधी कार्यक्रम लेती है। आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रही मनपा ने दो साल में इस तरह 200 करोड़ से ज्यादा खर्च कर दिए हैं। 

47 हजार का चाय-नाश्ता
मनपा का क्रीड़ा व सांस्कृतिक विभाग शिक्षक दिवस पर शिक्षकों के चाय-नाश्ते पर 47250 रुपए खर्च कर चुका है। मनपा की तरफ से शिक्षक दिन पर भव्य कार्यक्रम आयोजित कर शिक्षक दिवस का महत्व बताया जाता है। 

 40 हजार के बिस्कुट
मनपा की तरफ से बालक दिवस मनाया गया। इसमें विद्यार्थियों को 40 हजार के बिस्कुट खिलाए गए। 21 जून 2016 को योग दिवस कार्यक्रम मनाया गया। योग दिन पर 2 लाख 10 हजार के दुपट्टे बांटने की जानकारी सामने आई है। 

13 हजार का पी गए पानी
मनपा की तरफ से शिक्षण सप्ताह कार्यक्रम मनाया जाता है। शिक्षण सप्ताह के दौरान विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। 13 हजार 925 रुपए का पानी खरीदा गया। विद्यार्थियों, मेहमानों व शिक्षकों को पीने का जो पानी उपलब्ध कराया गया, उस पर यह खर्च हुआ है। 

पैसे बचाए मनपा 
मनपा की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। निधि के अभाव में कई बार विकास कार्य प्रभावित होते हैं। मनपा का यह खर्च देखकर ऐसा लगता है कि मनपा के पास पैसे की कमी नहीं है। मनपा को संभलकर खर्च करते हुए पैसे की बचत करनी चाहिए। खर्च पर काबू किया, तो विकास कार्य और तेजी से हो सकेंगे। 
-अभय कोलारकर, आरटीआई एक्टिविस्ट
 

खबरें और भी हैं...