comScore

नागपुर-नागभीड़ ब्रॉडगेज प्रकल्प को निधि का इंतजार

नागपुर-नागभीड़ ब्रॉडगेज प्रकल्प को निधि का इंतजार

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के नागपुर-नागभीड़ रेल मार्ग को ब्रॉडगेज में बदलने के लिए  हाल ही में मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी मिल गई है। इस प्रकल्प पर 1400 करोड़ खर्च होंगे। इसके लिए आधी राशि केंद्र सरकार से मिल गई है और आधी राशि राज्य सरकार से मिलने की है। इस लाइन पर कुल 19 स्टेशन होंगे। जिसमें इतवारी, भांडेवाड़ी, दिघोरी, तितुर,माहुली, कुही, बाम्हणी, उमरेड, ठाणा, कारगांव, भिवापुर, पवनी, टेंपा, मांगली आदि शामिल होंगे। इस लाइन पर 91 छोटे पुल, 6 आरओबी और 39 आरयूबी होंगे। पैसेंजर गाड़ियों को दौड़ाने के लिए 160 व मालगाड़ियों के लिए 100 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार निर्धारित होगी। 

25 नवंबर 2019 को बंद की गई लाइन
नागपुर-नागभीड़ नैरोगेज लाइन 25 नवंबर 2019 को बंद की गई। प्रकल्प का कार्य महाराष्ट्र रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन (महारेल) की ओर से किया जाएगा। प्रकल्प के लिए राज्य शासन आधा हिस्सा यानी 280 करोड़ रुपए देगी। जबकि केंद्र सरकार से निधि मिल गई है। राज्य शासन की निधि मिलने से प्रकल्प को गति मिल सकेगी।

कमेंट करें
u3DPU