comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

महिलाओं में स्वाभाविक रूप से होती है मैनेजमेंट स्किल : मेजर जकाते

February 06th, 2019 15:19 IST
महिलाओं में स्वाभाविक रूप से होती है मैनेजमेंट स्किल : मेजर जकाते

डिजिटल डेस्क,नागपुर। महिलाओं में गजब का मैनेजमेंट स्किल होता है। अपने इसी गुण से महिलाएं हर काम को आसान बना लेती हैं। पूर्व सैनिक महिला संगठन की ओर से बचत गट के शुभारंभ अवसर पर मेजर हेमंत जकाते ने ये विचार व्यक्त किए। उन्होंने सैनिक परिवारों के समाजिक योगदान पर भी प्रकाश डाला। इस अवसर सुलभा जकाते ने महिलाओं को आगे बढ़ते रहने के लिए कुछ न कुछ करते रहने के टिप्स दिए। प्रमुख अतिथि के रूप में दीपक लिमसे, विलास दवने, राम कोरके, नरेश बर्वे, सुभाष बंड उपस्थित थे। कार्यक्रम की प्रस्तावना शीला टाले ने रखी। अहवाल पठन अरुणा फाले किया।

कार्यक्रम का संचालन भाग्यश्री पाठक व आभार प्रदर्शन लीना बेलखोड़े ने माना। पूर्व सैनिक महिला संगठन ने अपने दूसरे स्थापना दिवस पर महिलाओं को सशक्त और सक्षम बनाने के उद्देश्य से नारी शक्ति महिला बचत गट की स्थापना की। घरेलू प्राडक्ट जन-जन तक पहुंचाने के लिए संगठन की महिलाओं ने एकजुट होकर विभिन्न घरेलू उत्पाद पेश किए।  कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जयश्री पाठक, सुमिता कुंभारे, लता धांडे, जया चाकले, गंगा गोउत्रे,आशा बांते, वर्षा शेंडे,, सावडकर, ढोबले काका, तितरमारे सर के मार्गदर्शन में संगठन के कार्यकर्ताओं ने अथक परिश्रम किया।

चिटणविस सेंटर में 8 से तीन दिवसीय मेगा ट्रीटमेंट कैंप
 इंटरनेशनल सुजोक एसोसिएशन एवं  सुजोक क्लीनिक और रिसर्च सेंटर नागपुर की ओर से 8 फरवरी से चिटणविस सेंटर में तीन दिवसीय मेगा ट्रीटमेंट कैंप का आयोजन किया जा रहा है।  शुक्रवार 8 फरवरी को मातृ सेवा संघ की अध्यक्ष कांचन गडकरी, आमदार मिलिंद माने व महापौर नंदा जिचकार की उपस्थिति में  पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले कैंप का उद्घाटन करेंगे। कैंप 23 देशों  के 80 विशेषज्ञ चिकित्सक उपचार के लिए  उपस्थित रहेंगे और डायबिटीज, ब्लडप्रेशर, स्किन प्रॉब्लम,  किडनी, हार्ट, जोड़ो में दर्द, न्यूरो प्रॉब्लम, डिप्रेशन आदि का इलाज किया जाएगा। 

सिविल लाइंस स्थित चिटणविस सेंटर में 8 ,9,10 फरवरी  को सुबह 10 से शाम 4 बजे तक इस नि:शुल्क कैंप का लाभ लिया जा सकता है। आशा  सारडा, शारदा राठी, दिलीप चौहान, शुभा माहेश्वरी वंदना व्यास, सरोज सांवल, मनीषा करमोरे, ज्ञानकला सारडा ने अधिकतम लोगों से इस कैंप का लाभ लेने का अनुरोध किया है। पतंजलि योगा समिति, तेजस्विनी महिला मंच, महावीर इंटरनेशनल, राजस्थानी महिला मंडल, गुजराती महिला समाज कैंप के आयोजन में सहयोग कर रहे हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए महिला मंडल से संपर्क किया जा सकता है। 
 

कमेंट करें
7O4ME
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।