दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बना सिरदर्द, परेशान हो रहे लोग

May 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर । 1 मई से 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। इसके बाद ही उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए सेंटर का नाम और समय दिया जाता है। शुरुआत के दो-तीन दिन तक तो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में कोई समस्या नहीं हुई, लेकिन अब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना सिरदर्द बन गया है। सर्वर डाउन से लेकर ओटीपी न आने की समस्या से लोगों को जूझना पड़ रहा है। ऐसे में कई लोग ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कर पा रहे हंै।

रजिस्ट्रेशन की समयावधि नहीं
 वैक्सीनेशन के लिए काेविन डॉट जीवोव्ही डॉट इन, कोविन एप व आरोग्य सेतु एप पर जाकर रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन को लेकर कोई समयावधि तय नहीं की गई है। रजिस्ट्रेशन को लेकर सबसे बड़ी समस्या सर्वर डाउन की आ रही है। बार-बार सर्वर डाउन होने से लोगों का समय बर्बाद हो रहा है। हालांकि रजिस्ट्रेशन के दो तरीके हैं। इसमें पहले से सेल्फ रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा ऑन द स्पॉट जाकर भी रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है।

सेंटरों की संख्या से हो रहा भ्रम
पहली समस्या : रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया करते समय कई दिक्कतें आ रही हैं। एप या वेबसाइट पर जाने के बाद उसमें अपना मोबाइल नंबर दर्ज कराना पड़ता है। मोबाइल नंबर दर्ज कराने के बाद एक ओटीपी आता है। ओटीपी लिखने के बाद ही अपना खाता खोला जा सकता है, लेकिन दिक्कत यह है कि अधिकांश लोगों को ओटीपी ही नहीं आ रहा है। इसलिए उनके रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहे हैं। 
दूसरी समस्या : जिन सेंटरों के नाम आ रहे हैं, उनमें से कौन से शुरू है, कौनसे बंद है इस बारे में लोगों को जानकारी नहीं है। हर रोज सेंटर कम-ज्यादा किए जाने से लोग भ्रम में है। कई बार पूरी जानकारी भरने के बाद भी समय का स्लॉट नहीं आता है। इसलिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही है।

 
जनसंख्या 10 लाख, वैक्सीनेशन 11 हजार

शहर में 18 से 44 आयु वर्ग की जनसंख्या 10 लाख से ऊपर होने का अनुमान व्यक्त किया गया है। 1 से 11 मई तक 18 से 44 आयु वर्ग वाले 11144 लोगों ने वैक्सीन ली है। इसके हिसाब से अब तक केवल एक प्रतिशत आंकड़ा ही पार हुआ है। बता दे कि 5 मई तक उपलब्ध स्लॉट की जानकारी तुरंत मिलती थी, लेकिन अब यह जानकारी नहीं मिल पा रही है। इसलिए लोगाें को रजिस्ट्रेशन कराने के लिए घंटों तक सिर खपाना पड़ रहा है।