दैनिक भास्कर हिंदी: मॉडल बताकर युवतियों को पेश करते थे ग्राहकों को सामने, पुलिस के दबोचते ही उगलने लगे सच्चाई

February 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  मॉडल बताकर युवतियों को ग्राहकों के सामने पेश कर मोटी रकम वसूलने वाले सेक्स रैकेट का पुलिस ने पर्दाफाश किया।  बेलतरोड़ी थानांतर्गत मनीष नगर में चल रहे  सेक्स रैकेट के आरोपी कृष्णा ताराचंद मोटवानी (24) सिंधी कॉलोनी, चिखली, बुलढाणा, रूपा उर्फ खुशी सुनील पिवाल (30) खामला और रितेश उर्फ राज भाव सिंह जाधव (25) हिवरा तांडा, आर्वी वर्धा निवासी को बेलतरोड़ी पुलिस ने  अदालत में पेश किया। अदालत ने तीनों आरोपियों काे न्यायिक हिरासत के तहत जेल भेजने के आदेश दिए हैं।  

तीनों आरोपियों ने मनीष नगर स्थित गुरुछाया सोसाइटी के माऊली अपार्टमेंट में 6 माह पहले एक फ्लैट किराए पर लेकर वहां देह व्यापार शुरू किया था। तीनों आरोपियों की एक-दूसरे से मोबाइल के जरिए पहचान हुई। तीनों देह व्यापार के लिए बाहर से युवतियों को बुलाया करते थे। तीनों जिस फ्लैट में देह व्यापार करते थे, उसी से सटे फ्लैट उन्होंने रहने के लिए ले रखा था। तीनों आरोपियों ने माऊली अपार्टमेंट में दो  फ्लैट लिए थे। प्रत्येक फ्लैट का सात हजार रुपए किराया देते थे। उन्होंने 10 दिन पहले ही पश्चिम बंगाल से 2 और दिल्ली व मुंबई से एक-एक युवती को देह व्यापार के लिए बुलाया था। अपराध शाखा पुलिस विभाग को इस बारे में सूचना मिली।

पुलिस ने रूपा उर्फ खुशी के पास एक पंटर यानी नकली ग्राहक भेजा। रूपा ने एक घंटे के लिए तीन हजार में  सौदा तय किया। पैसे लेने के बाद रूपा ने  फर्जी ग्राहक के साथ एक युवती को कमरे में भेज दिया। मौका पाकर पंटर ने अपराध शाखा पुलिस विभाग के सामाजिक सुरक्षा दस्ते के निरीक्षक विक्रम सिंह गौड को इशारा कर दिया। पुलिस ने सूचना मिलते ही फ्लैट में छापा मारा। वहां से पुलिस ने चार युवतियों को  हिरासत में लिया था। सूत्र बताते हैं कि इन युवतियों को ग्राहकों के सामने मॉडल बताकर पेश किया जाता था। पुलिस ने इस मामले में उपरोक्त तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया था।

ब्यूटी पार्लर में करती थी काम
सूत्रों ने बताया कि रूपा पिवाल पहले ब्यूटी पार्लर में काम करती थी। जिस ब्यूटी पार्लर में वह काम करती थी, वहां देह व्यापार अड्डा चलता था। वहां पर उसकी कुछ ग्राहकों के साथ गहरी दोस्ती हो गई। वह व्यापार के लिए आरोपी राज और कृष्णा के संपर्क में आई। ये तीनों कम उम्र की लड़कियों को देह व्यापार में उतारने लगे थे। उसके बाद खतरा बढ़ता देखकर यह तीनों  दिल्ली, मुंबई, कोलकत्ता की युवतियों को डिमांड के हिसाब से कांट्रैक्ट पर लाने लगे थे। 

10 हजार रुपए "पर डे'
दिल्ली, कोलकत्ता और मुंबई से बुलाई गईं युवतियों में से तीन लड़कियों के मॉडलिंग क्षेत्र से जुड़ी होने की खबर है। प्रत्येक युवती प्रतिदिन का 10 हजार रुपए लेती थी। इसी  करार पर वे नागपुर आती थीं। इस तरह वे 24 घंटे सेवा देने का करार करके आती हैं। जल्दी  पैसा कमाने की लालच में रूपा पिवाल ने ग्राहकों से जैसे भी पैसे मिलते थे, उतना लेकर उन्हें युवतियों के पास भेजने का काम करने लगी थी। 
 

खबरें और भी हैं...