comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

नागपुर यूनिवर्सिटी का बजट 420 करोड़ पर अटका

नागपुर यूनिवर्सिटी का बजट 420 करोड़ पर अटका

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने वर्ष 2021-22 का वार्षिक बजट करीब 420 करोड़ रुपए रखा है। यूनिवर्सिटी के वित्त विभाग के आकलन के अनुसार, इस बार यूनिवर्सिटी की तिजोरी को करीब 50 करोड़ के नुकसान का अनुमान है। ऐसा कोरोना संक्रमण के कारण उभरे हालातों से हुआ है। 

यह हैं बड़े कारण
पुनर्मूल्यांकन फीस : इस वर्ष मार्च 2020 में लॉकडाउन लगा। इसके पूर्व ही विद्यार्थी ग्रीष्मकालीन परीक्षा के लिए आवेदन शुल्क भर चुके थे। यूनिवर्सिटी ने ऑनलाइन परीक्षा संपन्न कराई। रिजल्ट बंपर लगे। विद्यार्थियों ने पुनर्मूल्यांकन के लिए ज्यादा आवेदन नहीं किए। यूनिवर्सिटी को पुनर्मूल्यांकन की फीस से वंचित रहना पड़ा। 

परीक्षा शुल्क
शीतकालीन परीक्षा की कोई घोषणा नहीं हुई। इस कारण यूनिवर्सिटी को शीतकालीन परीक्षा शुल्क भी नहीं मिल सका। चूंकि वर्ष 2020 की शीतकालीन परीक्षा होना शेष है, वर्ष 2021 की ग्रीष्मकालीन परीक्षाओं का भी अब तक ठिकाना नहीं है। इस कारण इस सत्र का परीक्षा शुल्क भी नागपुर यूनिवर्सिटी को अब तक नहीं मिला है। ऐसे में दो परीक्षा सत्रों की फीस से यूनिवर्सिटी इस वित्तीय वर्ष में वंचित रहेगा। 

अन्य रास्ते भी बंद
कॉलेज संलग्नीकरण, लेट फीस से भी बड़ी रकम मिलती है, जो विवि को नहीं मिल सकी है। इसका सीधा असर यूनिवर्सिटी के वार्षिक बजट पर पड़ रहा है। पिछले वर्ष 2019-20 में यूनिवर्सिटी का  वार्षिक बजट 382 करोड़ रुपए था। इसमें विवि ने हॉस्टल, कैंपस के इंफ्राक्ट्रक्चर, विद्यार्थी फैसिलिटी सेंटर जैसी सुविधाओं को प्राथमिकता दी थी। 

अब नैक मूल्यांकन सामने
इस बजट के माध्यम से यूनिवर्सिटी ने नैक के मूल्यांकन को साधने का लक्ष्य रखा है। इन्हीं मुद्दों को केंद्र में रख कर बजट निर्धारित किया गया था। वर्ष 2018-19 में विश्वविद्यालय ने कुल 424 करोड़ 99 लाख 99 हजार रुपए का बजट रखा था। बजट में परियोजना पर विवि ने अधिक खर्च करने से परहेज किया गया था। 

कमेंट करें
ZYBWK