दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर विश्वविद्यालय सुधारेगा शैक्षणिक गुणवत्ता

January 1st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने वर्ष 2021 में अपनी शैक्षणिक गुणवत्ता सुधारने का लक्ष्य रखा है। नैक और एनआईआरएफ जैसे प्रतिष्ठत मानांकनों में नागपुर यूनिवर्सिटी बेहतर प्रदर्शन करने का प्रयास कर रहा है। हाल ही में नागपुर यूनिवर्सिटी ने नैक को अपनी सेल्फ स्टडी रिपोर्ट भेजी है। आगामी 3 माह में नैक की रिपोर्ट आएगी। वैसे ही एनआईआरएफ में यूनिवर्सिटी की रैंकिंग बेहतर करने के लिए भी हाल के दिनों में मंथन हुआ है। यूनिवर्सिटी प्रभारी कुलसचिव डॉ.नीरज खटी के अनुसार वर्ष 2021 नागपुर यूनिवर्सिटी के लिए सकारात्मक नतीजे लेकर आएगा , ऐसी यूनिवर्सिटी प्रशासन की उम्मीद है। इसके साथ ही विद्यार्थियाें के लिए ऑनलाइन पढ़ाई को और सुविधाजनक बनाने पर भी प्रयास जारी है। नागपुर यूनिवर्सिटी ने ऑनलाइन पढ़ाई में विद्यार्थियों को होने वाली दिक्कतों काे समझ कर उनका हल निकालने के निर्देश संबंधित विशेषज्ञों को दिए हैं। ऐसे में वर्ष 2021 में विवि एक नए कलेवर में नजर आएगा। 

विद्यार्थी करेंगे ऑनलाइन पेमेंट
नए वर्ष में विद्यार्थियों को प्रवेश, परीक्षा व अन्य सभी प्रकार के शुल्क ऑनलाइन पद्धति से भरने की सुविधा दी है। विद्यार्थियों को अब यूनिवर्सिटी के परीक्षा भवन या कैंपस स्थित अकाउंट सेक्शन पहुंच कर फीस भरने की जरूरत नहीं होगी। उल्लेखनीय है नोटबंदी के बाद केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कैशलेस प्रणाली गया। इसके बाद नागपुर यूनिवर्सिटी समेत सभी शिक्षा संस्थानों को अपने यहां कैशलेस पेमेंट सिस्टम को बढ़ावा देने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन नागपुर यूनिवर्सिटी में इसे लागू करने में देरी हो रही थी। अब कोरोना संक्रमण के चलते यूनिवर्सिटी ने विद्यार्थियों को घर बैठे शुल्क भरने की सुविधा दी है। अब तक की प्रथा के अनुसार, कॉलेज के विद्यार्थी अपने कॉलेज काउंटर पर ही फीस भरते हैं, लेकिन यूनिवर्सिटी के पीजी विभागों और 3 संचालित कॉलेजों के विद्यार्थियों को प्रत्यक्ष यूनिवर्सिटी पहुंच कर शुल्क भरना होता था। इससे शुल्क काउंटरों पर विद्यार्थियों की लंबी-लंबी कतारें लगती थीं। 

ऐसी है प्रणाली
नागपुर यूनिवर्सिटी के वित्त विभाग ने ऑनलाइन पेमेंट सेवा के लिए गेटवे सिस्टम विकसित किया है। इसका प्रत्येक विभाग को लॉगइन दिया गया है। विद्यार्थी का नाम और मोबाइल नंबर डालते ही उसके बकाया शुल्क की सारी जानकारी स्क्रीन पर दिखेगी। विद्यार्थी को पेमेंट लिंक भेजी जाएगी, जिस पर क्लिक करके वह शुल्क भर सकेगा। शुल्क भरते ही संबंधित विभाग और विद्यार्थी दोनों को एसएमएस से कंफर्मेशन जाएगा। विद्यार्थी को पीडीएफ से रसीद अपने विभाग से ही मिलेगी।